कांग्रेस में कलह: युवा नेता चाहते हैं राहुल गांधी बनें राष्ट्रीय अध्यक्ष, दिग्विजय की ये है राय
Bhopal News in Hindi

कांग्रेस में कलह: युवा नेता चाहते हैं राहुल गांधी बनें राष्ट्रीय अध्यक्ष, दिग्विजय की ये है राय
युवा नेताओं का मानना है कि राहुल गांधी ही अध्यक्ष पद के लिए सबसे योग्य उम्मीदवार हैं.

दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) और अरुण यादव (Arun Yadav) भी राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग कर चुके हैं.

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस (Congress) में मचे घमासान के बीच पार्टी नेता भी दो फाड़ हैं. मध्य प्रदेश  में पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ भले ही सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को ही अध्यक्ष पद पर देखना चाहते हों, लेकिन युवा नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) में पार्टी का भविष्य देख रहे हैं. इन युवा नेताओं का मानना है कि राहुल जैसा लीडर राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नहीं मिलेगा. उन्हें ही राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान संभालना चाहिए. वहीं, मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्‍विजय सिंह और अरुण यादव भी राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग कर चुके हैं.

पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने राहुल गांधी को फिर से राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की है. उन्होंने कहा राहुल गांधी युवा चेहरा हैं और इस समय युवा नेतृत्व की पार्टी को जरूरत है. राहुल गांधी को फिर से राष्ट्रीय अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करना चाहिए. उन जैसा लीडर कोई दूसरा नहीं है. वही पार्टी का नेतृव संभालें. कमलेश्वर पटेल ने यह भी कहा कि पार्टी को इस समय युवा नेतृत्व की जरूरत है. युवाओं को जोड़ने के लिए राहुल गांधी को आगे आना चाहिए और हाईकमान को उनके नाम पर मोहर लगाना चाहिए. उन्होंने कहा राहुल गांधी अध्यक्ष के लिए सबसे अच्छा नाम है. उनके मुकाबले पार्टी में कोई दूसरे लीडर नहीं हैं. राहुल गांधी युवा नेतृत्व को आसानी से संभाल लेते हैं. उन्होंने हर मोर्चे पर पार्टी को संभाला है. बीजेपी को जवाब भी राहुल गांधी ही दे सकते हैं. चीन का मामला हो या फिर दूसरे राष्ट्रीय मामले राहुल गांधी ने ही हमेशा बीजेपी को करारा जवाब दिया है.

देश में युवा और प्रदेश में अनुभवी
कमलेश्वर पटेल राष्ट्रीय स्तर पर युवा नेता चाहते हैं लेकिन प्रदेश में वो अनुभवी नेता चाहते हैं. प्रदेश में युवाओं को छोड़ कमलनाथ को नेतृत्व देने के सवाल पर उन्होंने कहा कमलनाथजी अनुभवी हैं. उनके नेतृत्व में सरकार बनी थी और अब उपचुनाव भी उनके नेतृत्व में होंगे. उनके अंदर क्षमता है. यही कारण है कि उनको सभी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई हैं.कमलेश्वर पटेल ने यह भी कहा कि प्रदेश कांग्रेस में युवाओं की उपेक्षा कभी नहीं की गई. जब कमलनाथ की सरकार थी तो उस दौरान कई युवाओं को मंत्री बनाया गया था. युवा मंत्रियों को बड़ी-बड़ी जिम्मेदारियां दी गई थीं. अभी वक्त उपचुनाव जीतने का है. इसलिए कमलनाथ के नेतृत्व में पार्टी के सभी युवा उनके साथ खड़े हुए हैं और इस उपचुनाव को जीतेंगे भी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज