लाइव टीवी

ALERT: आम लोगों ने पकड़ा 'कसाब-2', अब इन चार आतंकियों को पकड़ने की आपकी बारी
Burhanpur News in Hindi

Manoj Rathore | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 6, 2015, 4:16 PM IST
ALERT: आम लोगों ने पकड़ा 'कसाब-2', अब इन चार आतंकियों को पकड़ने की आपकी बारी
मुंबई के गुनहगार अजमल आमिर कसाब के पकड़े जाने के सात साल बाद जम्मू के ऊधमपुर में आतंकी नावेद उस्मान को स्थानीय लोगों ने बहादुरी दिखाते हुए धरदबोचा, लेकिन मध्यप्रदेश के खंडवा जेल से फरार हुए तीन बड़े आतंकी अब भी खुले घूम रहे है. देश की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बने इन तीन आतंकियों के अलावा उनके एक साथी पर एनआईए ने 10 लाख रुपए के ईनाम का एलान किया है. जम्मू कश्मीर के लोगों की तरह पहल कर आप भी इन आतंकियों को फिर से सलाखों के पीछे पहुंचा सकते हैं.

मुंबई के गुनहगार अजमल आमिर कसाब के पकड़े जाने के सात साल बाद जम्मू के ऊधमपुर में आतंकी नावेद उस्मान को स्थानीय लोगों ने बहादुरी दिखाते हुए धरदबोचा, लेकिन मध्यप्रदेश के खंडवा जेल से फरार हुए तीन बड़े आतंकी अब भी खुले घूम रहे है. देश की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बने इन तीन आतंकियों के अलावा उनके एक साथी पर एनआईए ने 10 लाख रुपए के ईनाम का एलान किया है. जम्मू कश्मीर के लोगों की तरह पहल कर आप भी इन आतंकियों को फिर से सलाखों के पीछे पहुंचा सकते हैं.

  • Share this:
मुंबई के गुनहगार अजमल आमिर कसाब के पकड़े जाने के सात साल बाद जम्मू के ऊधमपुर में आतंकी नावेद उस्मान को स्थानीय लोगों ने बहादुरी दिखाते हुए धरदबोचा, लेकिन मध्यप्रदेश के खंडवा जेल से फरार हुए तीन बड़े आतंकी अब भी खुले घूम रहे है. देश की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बने इन तीन आतंकियों के अलावा उनके एक साथी पर एनआईए ने 10 लाख रुपए के ईनाम का एलान किया है. जम्मू कश्मीर के लोगों की तरह पहल कर आप भी इन आतंकियों को फिर से सलाखों के पीछे पहुंचा सकते हैं.

मध्यप्रदेश पुलिस के लिए खंडवा जेल ब्रेक कर फरार हुए तीन आतंकी चुनौती बने हुए हैं. तीनों आरोपियों पर 15-15 लाख का ईनाम है. एनआईए ने 10 लाख और मध्यप्रदेश पुलिस ने 5 लाख का ईनाम घोषित किया था. मध्यप्रदेश पुलिस बीते दो सालों में तमाम प्रयास किए, लेकिन अभी तक एक भी आतंकी का सुराग नहीं लगा.

सूत्रों ने बताया कि 15 अगस्त के मद्देनजर पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश की पुलिस को अलर्ट कर दिया है. मुख्यालय के निर्देश के बाद खुफिया विभाग भी सर्तक है. हाल ही में एनआईए ने लंबे समय से फरार चल रहे सिमी आतंकी जाकिर, मेहबूब, अजमद और सादिक पर ईनाम की घोषणा की थी. जिन आतंकियों पर ईनाम घोषित किया गया, उनमें से आतंकी जाकिर, मेहबूब और अजमद खंडवा जेल ब्रेक कर दो सालों से फरार हैं. सादिक पहले से ही फरार है और अब वो इन तीनों के साथ मिलकर नापाक मंसूबों को अंजाम देने में जुटा है.



आतंकियों पर पुणे और यूपी में ब्लास्ट करने का आरोप है. खंडवा जेल से छह आतंकी फरार हुए थे. इन में से अबू फैजल को मध्यप्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया था, जबकि फरार पांच आतंकियों में से दो को तेलगांना पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था.



अक्टूबर 2013 में खंडवा जेल से फरार आतंकी जाकिर, मेहबूब और अजमद मध्यप्रदेश पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं.

एनआईए के सूत्रों मुताबिक पिछले साल बिजनौर और चेन्नई में हुए ब्लास्ट में इन्हीं चारों का हाथ था. इसके अलावा बेंगलुरु आतंकी घटना में भी शक की सुई आतंकियों के इसी समूह पर आकर टिक रही है. माना जा रहा है कि वह किसी बड़े आतंकी हमले की साजिश रच रहे है.

एनआईए को काफी समय से इनकी लोकेशन कर्नाटक के हुबली और आसपास के इलाकों में मिल रही थी, लेकिन अब तक यह चारों गिरफ्त से बाहर है. बताया जा रहा है कि पकड़े जाने के डर से इन्होंने इलैक्ट्रानिक डिवाइस का इस्तेमाल बेहद कम कर दिया है. वो फोन पर भी बहुत कम बात करते है और एक नंबर से दूसरी बार बात करने से भी बच रहे है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2015, 2:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading