लाइव टीवी

कांग्रेस के वचनपत्र के वादे पूरे नहीं होने पर सियासत तेज, भाजपा करेगी आंदोलन

Sharik Akhtar Durrani | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 1, 2019, 11:34 AM IST
कांग्रेस के वचनपत्र के वादे पूरे नहीं होने पर सियासत तेज, भाजपा करेगी आंदोलन
बुरहानपुर में राशन की दुकान

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद चुनाव के समय कांग्रेस के वचन पत्र के वादों पर राजनीति गर्मा गई है. कांग्रेस ने राशन की दुकानों पर सस्ती खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने का वचन किया था, जिसे सरकार बनने के 45 दिन बाद भी पूरा नहीं करने पर भाजपा ने इस पर राजनीति शुरू कर दी है.

  • Share this:
मध्यप्रदेश में सरकार बनने के पहले कांग्रेस के घोषणा पत्र के वादों पर अब राजनीति शुरू हो गई है. कांग्रेस के वचन पत्र में राशन की दुकानों पर सस्ती दरों पर रसोई के उपयोग में ली जाने वाली खाद्य सामग्री देने का वादा किया था, जिसे पुरा नहीं करने पर बुरहानपुर में विपक्षी दल ने इसे मुद्दा बना लिया है और अब इसके लिए आंदोलन करने की बात कही जा रही है.

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद चुनाव के समय कांग्रेस के वचन पत्र के वादों पर राजनीति गर्मा गई है. कांग्रेस ने राशन की दुकानों पर सस्ती खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने का वचन किया था, जिसे सरकार बनने के 45 दिन बाद भी पूरा नहीं करने पर भाजपा ने इस पर राजनीति शुरू कर दी है. भाजपा नेता कांग्रेस को इस वादे की याद दिला रहे हैं और इसे पूरा नहीं करने पर भाजपा ने आंदोलन की चेतावनी दी है.

बुरहानपुर से कांग्रेस के बागी रहे निर्दलीय विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह ने कांग्रेस सरकार की वकालत करते हुए जल्द से जल्द राशन की दुकानों के माध्यम से रसोई की उपयोग की खाद्य सामग्री सस्ती दरों पर मुहैया कराए जाने की बात कही है. स्थानीय खाद्य विभाग के अनुसार भोपाल मुख्यालय से फिलहाल ऐसे कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं. जिला आपूर्ति अधिकारी अर्चना नागपुरे ने बताया कि एक फरवरी से राशन की दुकानों के माध्यम से 27 रुपये किलो की दर से प्रत्येक बीपीएल कार्डधारी परिवारों को अधिकतम चार किलो साबुत चावल देने के आदेश जारी किए गए हैं, जिसकी खाद्य विभाग ने तैयारी कर ली है.

विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में कई लोक लुभावने वादे किए थे. अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन चुकी है, जिसके बाद सरकार चरणबद्ध तरीके से इन घोषणाओं पर अमल कर रही है, लेकिन चुनाव के समय मतदाताओं में किसानों की कर्जमाफी की तर्ज पर सस्ती खाद्य सामग्री राशन की दुकान पर देने का वादा भी काफी लोकप्रिय हुआ था, जिसे भुनाते हुए सियासत तेज हो गई है.

यह भी पढ़ें-  MP में कांग्रेस का मैनिफेस्टो जारीः ऋण माफी, गौशाला, स्मार्ट फोन और लैपटॉप देने का वादा

यह भी पढ़ें-  एमपी में 5 फरवरी तक लागू करें सवर्ण आरक्षण नहीं तो करेंगे आंदोलन: करणी सेना

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...

यूनियन बजट 2019 के लाइव अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें....

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2019, 11:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...