लाइव टीवी

नेपानगर की ये नई विधायक, करोड़ों की मालकिन होकर भी हैं लाखों की कर्जदार

Pradesh18
Updated: November 22, 2016, 3:11 PM IST
नेपानगर की ये नई विधायक, करोड़ों की मालकिन होकर भी हैं लाखों की कर्जदार
मध्यप्रदेश के नेपानगर विधानसभा सीट पर भाजपा की मंजू दादू ने अंतर सिंह बर्डे को 42 हजार से भी ज्यादा अंतर से हराकर जीत हासिल कर ली है. ये नई विधायक यूं तो करोड़ों की मालकिन हैं, फिर भी इन पर लाखों का कर्ज चढ़ा हुआ है.

मध्यप्रदेश के नेपानगर विधानसभा सीट पर भाजपा की मंजू दादू ने अंतर सिंह बर्डे को 42 हजार से भी ज्यादा अंतर से हराकर जीत हासिल कर ली है. ये नई विधायक यूं तो करोड़ों की मालकिन हैं, फिर भी इन पर लाखों का कर्ज चढ़ा हुआ है.

  • Pradesh18
  • Last Updated: November 22, 2016, 3:11 PM IST
  • Share this:
मध्यप्रदेश के नेपानगर विधानसभा सीट पर भाजपा की मंजू दादू ने अंतर सिंह बर्डे को 42 हजार से भी ज्यादा अंतर से हराकर जीत हासिल कर ली है. ये नई विधायक यूं तो करोड़ों की मालकिन हैं, फिर भी इन पर लाखों का कर्ज चढ़ा हुआ है.

दरअसल, ये चौंकाने वाला खुलासा तब हुआ था जब मंजू दादू ने उपचुनाव में नामांकन भरने के दौरान संपत्ति का ब्यौरा दिया था. जिसके मुताबिक, 27 वर्षीय मंजू दादू पर 14 लाख 40 हजार 968 रुपए का कर्ज है.

ब्यौरे में दी गई जानकारी पर नजर डालें तो...

-मंजू के पास 3 लाख 10 हजार रुपए की कीमत के जेवरात हैं

-तीन बैंक खातों में 1 लाख 1 हजार 4 सौ 95 रुपए जमा

-दो बैंक खाते भोपाल में और एक बैंक खाता खकनार में

-25 हजार 680 रुपए की एलआईसी प्रीमियम भरती हैं मंजू-पिता की ढाई करोड़ के दुर्घटना क्लेम के सात हिस्सेदारों में से एक

-विरासत में मिली 2 करोड़ 8 लाख रुपए के मूल्य का 26 एकड़ जमीन

मंजू राजेंद्र दादू का संक्षिप्त प्रोफाइल

-- मंजू राजेंद्र दादू नेपानगर के दिवंगत विधायक राजेंद्र दादू की पुत्री हैं

-- मंजू राजेंद्र दादू ने भोपाल से बीबीए की पढ़ाई की है

-- मंजू राजेंद्र दादू वॉलीबाल की खिलाड़ी हैं

-- कोरकू समाज में सबसे पढ़े- लिखे परिवार से ताल्लुक रखती हैं

-- समाज में उच्च शिक्षित होने के चलते समाजसेवा में कई सालों से सक्रीय

-- राजनीति में कोई रुचि नहीं, लेकिन दिवंगत पिता के अधूरे सपनों को पूरा करने मैदान में उतरी

-- मंजू दादू का व्यक्तित्व काफी सादा और शालिन माना जाता है

-- समाज और क्षेत्र में छोटे बड़े सभी लोग इन्हें मंजू दीदी के नाम से पुकारते हैं

-- उच्च शिक्षित होने के बावजूद अपने छोटे से पैतृक गांव कानापुर में रहना पसंद

-- राजनीति के माध्यम से अपने कोरकू आदिवासी समाज का उत्थान करना चाहती हैं

गौरतलब है कि मंजू दादू के विधायक पिता श्याम दादू की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी, जिसके बाद नेपानगर सीट खाली हो गई. इस सीट पर 19 नवंबर को चुनाव हुए थे, जिसमें मंजू दादू ने जीत हासिल की है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2016, 3:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर