लाइव टीवी

पढ़िए, कहां डेम के पानी से 150 परिवारों की ज़िंदगी मुसीबत में पड़ी
Burhanpur News in Hindi

Rupesh Dawane | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 20, 2015, 6:48 PM IST
पढ़िए, कहां डेम के पानी से 150 परिवारों की ज़िंदगी मुसीबत में पड़ी
मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में सिंचाई के लिए बन रहे खारक बांध का बैक वाटर बड़वानी जिले के तीन गांवों के 150 परिवारों के लिए मुसीबत बन गया है. खरगोन जिले की सीमा से सटे गांव छोटा जुलवानिया, सिरवेल और कान्याबेडी के किसानों की फसल डेम के बैक वाटर से तबाह हो गईं हैं.

मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में सिंचाई के लिए बन रहे खारक बांध का बैक वाटर बड़वानी जिले के तीन गांवों के 150 परिवारों के लिए मुसीबत बन गया है. खरगोन जिले की सीमा से सटे गांव छोटा जुलवानिया, सिरवेल और कान्याबेडी के किसानों की फसल डेम के बैक वाटर से तबाह हो गईं हैं.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में सिंचाई के लिए बन रहे खारक बांध का बैक वाटर बड़वानी जिले के तीन गांवों के 150 परिवारों के लिए मुसीबत बन गया है. खरगोन जिले की सीमा से सटे गांव छोटा जुलवानिया, सिरवेल और कान्याबेडी के किसानों की फसल डेम के बैक वाटर से तबाह हो गईं हैं.

पीड़ितों का आरोप है कि बांध की डूब में आने वाले परिवारों को बिना पुनर्वास के विस्थापित कर दिया गया है. उनका जल संसाधन विभाग पर आरोप है कि बांध में पानी भरने को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश के बावजूद विभाग ने अवहेलना करते हुए किसानों की फसलें डूबो दी हैं.

अधिकारियों पर अवमानना का आरोप लगाते हुए दलित जाग्रत आदिवासी संगठन के बैनर तले किसानों ने गुरूवार को बड़वानी पहुंचकर कलेक्टर और सीईओ जिला पंचायत से शिकायत की. किसानों ने जिम्मेदारों से तबाह हुई फसल का आंकलन कर मुआवजा देने की मांग की. इसके अलावा विस्थापन की मांग करते हुए बांध को भरने से रोक की मांग की.



गौरतलब है कि करोड़ों की लागत से बांध का निर्माण कराया गया है. जिसमें दोनों जिले के कई गांव प्रभावित हो रहे हैं. बड़वानी जिले के तीन गांवों के सैकड़ों आदिवासी परिवारों के सामने बांध के पानी के कारण कृषि भूमि डूब जाने से रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है.



 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2015, 6:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading