लाइव टीवी

मुख्यमंत्री साहब देखिए, कर्ज के बोझ तले एक और किसान ने दी जान
Burhanpur News in Hindi

Ashutosh Purohit | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 30, 2015, 11:07 AM IST
मुख्यमंत्री साहब देखिए, कर्ज के बोझ तले एक और किसान ने दी जान
मध्यप्रदेश में हर रोज किसान आत्महत्या कर रहे है. अब इस कड़ी में खरगोन जिले भीमसिंह का नाम भी जुड़ गया है. भीमसिंह ने कर्ज और फसल बर्बादी से परेशान होकर कीटनाशक पीकर जान दे दी.

मध्यप्रदेश में हर रोज किसान आत्महत्या कर रहे है. अब इस कड़ी में खरगोन जिले भीमसिंह का नाम भी जुड़ गया है. भीमसिंह ने कर्ज और फसल बर्बादी से परेशान होकर कीटनाशक पीकर जान दे दी.

  • Share this:
मध्यप्रदेश में हर रोज किसान आत्महत्या कर रहे है. अब इस कड़ी में खरगोन जिले भीमसिंह का नाम भी जुड़ गया है. भीमसिंह ने कर्ज और फसल बर्बादी से परेशान होकर कीटनाशक पीकर जान दे दी.

बताया जा रहा है कि, भीकनगांव तहसील के नवलपुरा गांव में रहने वाला 40 वर्षीय भीमसिंह बढ़ते कर्ज के कारण तनाव में था. इस बार भीमसिंह ने मिर्च की फसल बोई थी. लेकिन पूरी फसल बर्बाद हो गई, जिससे उसकी कोई आमदनी नहीं हुई.

परिजनों ने बताया कि, भीमसिंह की पिछले तीन साल से लगातार फसल बर्बाद हो रही थी. जिस वजह से उस पर करीब 7 लाख का कर्ज हो गया था.



इस बार भी फसल बर्बाद होने से उसके लिए कर्ज चुकाना संभव नहीं थी. इसी के चलते भीमसिंह ने कीटनाशक पी कर अपनी जान दे दी.



अफसरों ने बिजली,बैंक और पानी के संबंध में बताई समस्या

गांवों में चौपाल लगाने वाले आला अफसरों से सीएम शिवराज की वनटूवन चर्चा जारी है, मुख्यमंत्री डेढ़ सौ से ज्यादा अफसरों के साथ अकेले में डिस्कशन कर रहे है.

ज्यादातर अफसरों ने गांवों में बिजली की समस्या और खराब ट्रांसफार्मर को लेकर मुख्यमंत्री को शिकायत दर्ज कराई, जबकि कुछ अफसरों ने बीपीएल कार्डधारियों को केरोसिन नहीं मिलने और लोन को लेकर सहकारिता बैंकों के दबाव की समस्या की जानकारी मुख्यमंत्री को दी.

सूखे का असर, प्रति हेक्टेयर पांच क्विंटल अनाज उत्पादन

प्रदेश में फसल कटाई के बाद अनाज उत्पादन की आई रिपोर्ट निराशाजनक है. राज्य में प्रति हेक्टेयर पांच क्विंटल अनाज उत्पादन निकलकर सामने आया है. जबकि प्रति हेक्टेयर 11 क्विंटल अनाज उत्पादन होता है.

कृषि विभाग को अब तक मिली 11 हजार छह सौ पटवारी हल्कों की रिपोर्ट में अनाज उत्पादन में बड़ा नुकसान होने की रिपोर्ट आई है. वहीं विभाग को पूरी तरह से रिपोर्ट 15 नवंबर तक मिलने की उम्मीद है.

कर्ज लेकर राहत राशि देगी शिवराज सरकार

प्रदेश में किसानों को राहत राशि देने के लिए प्रदेश सरकार कर्ज लेगी. प्रदेश सरकार को करीब 3,000 करोड़ रुपए के राहत राशि की जरूरत है. सरकार के पास अभी केवल 700 करोड़ रुपए का ही बजट है. ऐसे में सरकार ने तमाम विकास कार्यों को रोक दिया है और अब विधानसभा में प्रस्ताव के जरिए दूसरे विभागों के बजट में कटौती कर राशि का इस्तेमाल किसानों की मदद के लिए किया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2015, 9:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading