लाइव टीवी

हड़ताल पड़ रही सरकार की जेब पर भारी, रजिस्ट्री न होने से दो करोड़ का नुकसान

News18
Updated: January 17, 2016, 11:37 AM IST
हड़ताल पड़ रही सरकार की जेब पर भारी, रजिस्ट्री न होने से दो करोड़ का नुकसान
Demo Pic

  • News18
  • Last Updated: January 17, 2016, 11:37 AM IST
  • Share this:
सर्विस प्रोवाइडर की लगातार चल रही हड़ताल अब सरकार की जेब पर भारी पड़ रही है. इस हड़ताल से सरकार को पांच दिनों के अंदर करीब दो करोड़ रुपए का राजस्व नुकसान हुआ है.

दरअसल, ऑनलाइन रजिस्ट्री व्यवस्था में सुधार की मांग को लेकर बुरहानपुर में सर्विस प्रोवाइडर पांच दिनों से हड़ताल पर हैं. इस वजह से पक्षकार रजिस्ट्री नहीं करवा पा रहे हैं. जिससे शासन को अब तक दो करोड़ रुपए का नुकसान हो गया है.

बावजूद इसके सरकार की ओर से सर्विस प्रोवाइडर की मांगों को लेकर कोई जवाब नहीं आया है. ऐसे में प्रोवाइडर भी जवाब नहीं आने तक हड़ताल पर डटे रहने की बात कर रहे हैं.

क्या है मामला ?

मध्यप्रदेश में ई-रजिस्ट्री अगस्त 2015 से अनिवार्य कर दी गई है. लेकिन ऑनलाइन प्रक्रिया में आ रही दिक्कतों के कारण ये सुविधा अब सर्विस प्रोवाइडरों के लिए सिरदर्द बन गई है.

प्रोवाइडरों का आरोप है कि ई-रजिस्ट्री को अनिवार्य करने से पहले उसकी कमियों का दूर नहीं किया गया. वहीं मेन्युअल रजिस्ट्री भी पूरी तरह बंद कर दी गई. इस वजह से प्रोवाइडरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

सर्विस प्रोवाइडरों की मांग है कि ई-रजिस्ट्री की कमियों को जल्द से जल्द दूर किया जाए, साथ ही जब तक यह पूरी तरह ठीक नहीं हो जाती तब तक के लिए मेन्युअल रजिस्ट्री को दोबारा शुरू कर दिया जाए. 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2016, 11:37 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर