लाइव टीवी

पहले मिला 65 लाख के मुआवजे का नोटिस, बाद में किसान के उड़ गए होश

Sharik Akhtar | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: June 5, 2016, 4:21 PM IST
पहले मिला 65 लाख के मुआवजे का नोटिस, बाद में किसान के उड़ गए होश
file photo

जिले उपनगर लालबाग में रेलवे ओव्हर निर्माण को लेकर एक दर्जन से अधिक किसानों की कृषि भूमि जिला प्रशासन ने अधिग्रहित की है, लेकिन पेशे से डॉक्टर और किसान डॉ. रीतेश अग्रवाल ने नाइंसाफी का आरोप लगाया है.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में राजस्व विभाग की गलतियों से किसानों व भू-स्वामियों में भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है. यहां पहले एक किसान की जमीन अधिग्रहण के लिए 65 लाख के मुआवजे का नोटिस दिया गया और बाद में मुआवजा घटा कर 11 लाख कर दिया गया.

जिले उपनगर लालबाग में रेलवे ओव्हर निर्माण को लेकर एक दर्जन से अधिक किसानों की कृषि भूमि जिला प्रशासन ने अधिग्रहित की है, लेकिन पेशे से डॉक्टर और किसान डॉ. रीतेश अग्रवाल ने नाइंसाफी का आरोप लगाया है.

उनका कहना है कि उन्होंने वर्ष 2010 में कृषि भूमि खऱीदी थी. पास में ही पर्यटन स्थल कुंडी भंडारा में आऩे वाले देश विदेश के सैलानियों को देखते हुए उन्हें कृषि भूमि का व्यवसायिक प्रयोजन के लिए डायवर्जन कराया. इस बीच रेलवे ओव्हर ब्रिज निर्माण के लिए एप्रोच रोड के लिए उनकी जमीन के अधिग्रहण का कलेक्टर से उन्हें पत्र प्राप्त हुआ, जिसमें उनकी जमीन का मुआवजा 65 लाख देने को कहा गया.

डॉक्टर रीतेश ने बताया कि इसकी उन्होंने प्रशासन को स्वीकृति दे दी. लेकिन समाचार पत्र में मुआवजे की सूची में उनके पड़ोसी किसानों का नाम होने और उनका नाम नहीं होने पर उन्होंने कलेक्टर कार्यालय में संपर्क किया तो उन्हें दोबारा एक पत्र मिला, जिसमें उनकी जमीन का मुआवजा घटाकर 11 लाख रुपए कर दिया गया.

पीड़ित किसान ने इसे नाइंसाफी करार दिया है, उन्होंने न्याय के लिए कलेक्टर की जनसुनवाई में गुहार लगाई. जहां से इंसाफ नहीं मिलने पर वह न्याय पाने के लिए हाईकोर्ट जाने की बात कह रहे हैं.

उधर, कलेक्टर जेपी आइरिन सिंथिया ने शिकायत मिलने पर मामले की नए सिरे से जांच शुरू करवा दी है. जांच में जो भी तथ्य आएंगे उसके अनुसार कलेक्टर कार्यवाई करने की बात कह रही हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 5, 2016, 4:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर