लाइव टीवी

अब इस जिले में डेंगू ने दी दस्तक, हरकत में आया स्वास्थ्य विभाग

Sharik Akhtar Durrani | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2016, 2:16 PM IST
अब इस जिले में डेंगू ने दी दस्तक, हरकत में आया स्वास्थ्य विभाग
demo image

मध्य प्रदेश में एक के बाद एक डेंगू के कई मरीज सामने आ रहे हैं. अब बुरहानपुर जिले में इस बीमारी से पीड़ित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में एक के बाद एक डेंगू के कई मरीज सामने आ रहे हैं. अब बुरहानपुर जिले में इस बीमारी से पीड़ित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है.

जानकारी के मुताबिक, जिले के निंबोला गांव में डेंगू पीड़ित मरीज मिला है, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बड़े स्तर पर घरों की चैकिंग शुरू कर दी है. विभाग ने गांव के 800 घरों का सर्वे काराया, जिसमें से 13 घरों में 18 जगह लार्वा पाया गया.

लार्वा पाए जाने पर उसे उसी समय दवाई डालकर नष्ट किया गया, साथ ही इलाके में दवाई का छिड़काव किया गया.

डेंगू से बचाव के लिए अपनाएं ये आसान उपाय

देश की राजधानी दिल्ली से लेकर मध्यप्रदेश के कई शहरों में डेंगू मौत की वजह बन रहा है. हालांकि, कुछ आसान टिप्स अपनाकर इस बीमारी से आसानी से बचा जा सकता है.

डेंगू एक खतरनाक बीमारी है, लेकिन अगर इसे पनपने ही न दिया जाए तो इससे कई लोगों की जान बचाई जा सकती है. इसी के साथ डेंगू के लक्षण दिखाई देते ही डॉक्टर से संपर्क करने पर इस बीमारी को गंभीर होने से बचा जा सकता है.

डेंगू के लक्षण-तेज बुखार, शरीर पर रेशेस
- बदन दर्द, सिर दर्द
-मांसपेशियों और जोड़ों में जबरदस्त दर्द
-डेंगू का एक और प्रकार है जिसे हेमरेजीक डेंगू कहते हैं. इसमें रक्तस्राव के लक्षण और बेहोशी के लक्षण प्रतीत होते हैं
-हेमरेजीक डेंगू से सांस में भी रुकावट पैदा होती है जो इस बीमारी का एक और लक्षण है

डेंगू से बचाव के तरीके

-रोगग्रसित मरीज का तुरंत उपचार शुरू करें और तेज बुखार की स्थिति में पेरासिटामाल की गोली दें.
-एस्प्रिन या डायक्लोफेनिक जैसी अन्य दर्द निवारक दवाई न लें.
-खुली हवा में मरीज को रहने दें व पर्याप्त मात्रा में भोजन-पानी दें जिससे मरीज को कमजोरी न लगे.
-फ्लू एक तरह से हवा में फैलता है अतः मरीज से 10 फुट की दूरी बनाए रखें तो फैलने का खतरा कम रहता है.
-जहां बीमारी अधिक मात्रा में हो, वहां फेस मॉस्क पहनना चाहिए.
-घर के आसपास मच्छरनाशक दवाइयां छिड़काएं.
-एडिस मच्छर दिन में काटते हैं, अतः शरीर को पूर्ण रूप से ढंकें.
-पानी के फव्वारों को हफ्ते में एक दिन सुखा दें. घर के आसपास छत पर पानी एकत्रित न होने दें.
-घर का कचरा सुनिश्चित जगह पर डालें, जो कि ढंका हो.
-कचरा आंगन के बाहर न फेंककर नष्ट करें.
-पानी की टंकियों को कवर करके रखें व नियमित सफाई करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2016, 2:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर