Good News: बच्चों का बर्थडे हो या मैरिज एनिवर्सरी, पुलिसवालों को एसपी देंगे खास तोहफा

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर एसपी ने पुलिस अफसरों, कर्मचारियों को तनावमुक्त और खुश करने के मकसद से एक खास तोहफा दिया है.
मध्य प्रदेश के बुरहानपुर एसपी ने पुलिस अफसरों, कर्मचारियों को तनावमुक्त और खुश करने के मकसद से एक खास तोहफा दिया है.

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर एसपी ने पुलिस अफसरों, कर्मचारियों को तनावमुक्त और खुश करने के मकसद से एक खास तोहफा दिया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के बुरहानपुर एसपी ने पुलिस अफसरों, कर्मचारियों को तनावमुक्त और खुश करने के मकसद से एक खास तोहफा दिया है.

एसपी अनिल सिंह कुशवाह ने पुलिस अफसरों और कर्मचारियों को उनके उनकी पत्नी व दो बच्चों के जन्मदिन पर साथ ही उनकी शादी की सालगिराह पर एक दिन की छुट्टी देने का ऐलान कर दिया है.

एसपी ने न केवल इस का ऐलान किया है, बल्कि अब इस पर अमल भी शुरू हो गया है. प्रदेश के पुलिस विभाग में इस तरह पुलिस अफसरों और कर्मचारियों को अवकाश देने के मामले में बुरहानपुर पहला जिला बन गया है.



एसपी की इस पहल का पुलिस विभाग ने स्वागत किया है. पुलिसकर्मियों का कहना है कि, अब वे अपने काम को और अधिक क्षमता के साथ कर सकेंगे.
तनाव में काम कर रही एमपी की पुलिस !

मध्य प्रदेश में पुलिसकर्मियों को अक्सर एक दिन में दो बार ड्यूटी पर जाना होता है. मसलन, पुलिसकर्मियों को सुबह 6 बजे से 10 बजे तक, उसी दिन रात 12 से 6 बजे तक फिर अगली शाम 6 बजे से रात 12 तक, सुबह 10 से 6 बजे तक ड्यूटी करनी होती है.

इसके अलावा कम वेतनमान, छुट्टी नहीं मिलना, अधिकारियों द्वारा लगातार डांट फटकार से पुलिसकर्मी डिप्रेशन, एग्रेसिवनेस, फ्रस्टेशन जैसे गंभीर मानसिक रोगों के शिकार हो जाते हैं. इससे परिवार में भी कलह की स्थिति निर्मित होती है और अकेलेपन का शिकार हो जाते हैं.

गृह मंत्री भी कर चुके छुट्टियों का जिक्र

प्रदेश के तत्कालीन गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने पुलिसकर्मियों को महीने में एक दिन का अवकाश दिए जाने की योजना बनाई थी. उन्होंने कहा था कि, कर्मचारियों की कमी के चलते ऐसा नहीं हो पा रहा है.

राज्य में लगभग 30 हजार पुलिसकर्मियों की कमी है, हर वर्ष पांच हजार पुलिस कर्मियों की भर्ती का लक्ष्य है, आगामी कुछ वर्षो में पुलिस बल की कमी खत्म हो जाएगी और पुलिस कर्मियों को अवकाश मिलने लगेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज