लाइव टीवी

अस्तित्व की लड़ाई लड़ते पावरलूम उद्योग पर वोल्टेज की दोहरी मार

Sharik Akhtar Durrani | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2016, 10:00 AM IST
अस्तित्व की लड़ाई लड़ते पावरलूम उद्योग पर वोल्टेज की दोहरी मार

  • Share this:
बुरहानपुर की धड़कन कहे जाने वाला पावरलूम उद्योग इन दिनों दोहरी मार झेल रहा है. एक ओर उद्योग में चल रही मंदी से इस कला के खोने का संकट गहरा रहा है, वहीं दूसरी ओर वोल्टेज की समस्या से उद्योग को पनपने का अवसर नहीं मिल रहा है.

सर्वाधिक पावरलूम वाले क्षेत्र हमीदपुरा में बुनकर लंबे समय से वोल्टेज की समस्या से परेशान हैं. कई बार शिकायत करने पर भी जब समस्या नहीं सुलझी तो परेशान बुनकरों ने विद्युत वितरण कंपनी के कार्यालय पहुंचकर शहर अभियंता जेआर कनखरे का अघोषित रूप से घेराव कर लिया.

जिसके बाद कंपनी के अधिकारियों ने बुनकरों को आश्वासन दिया कि 15 फरवरी तक विद्युत डीपी लगा दी जाएगी जिससे यह समस्या खत्म हो जाएगी.

कंपनी की मानें तो हमीदपुरा क्षेत्र में लगातार पावरलूम की संख्या बढ़ती जा रही है जिससे यह समस्या बार- बार उत्पन्न हो रही है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि जल्द ही कंपनी इस क्षेत्र में बड़ी क्षमता वाले विद्युत ट्रांस्फार्मस स्थापित करने की योजना बना रही है.

खतरे में पड़ा अस्तित्व

पावरलूम को बुरहानपुर शहर की धड़कन माना जाता है. कभी 24 घंटे तक लगातार चलने वाले पावरलूम की धड़कन अब बमुश्किल 12 घंटे ही सुनाई देती है.

पिछले छह महीने से कारोबार में आई मंदी की मार से अब इस शहर की पहचान पावरलूम उद्योग भी बच नहीं पाया है. काम में कमी का सीधा असर अब यहां पावरलूम पर काम करने वाले हजारों बुनकरों पर हो रहा है.बुनकरों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो रहा है. आमदनी घटने से अब बुनकरों से रोजगार के लिए दूसरे शहर की ओर पलायन करना शुरू कर दिया है.

पावरलूम जानकारों के अनुसार केंद्र सरकार की विदेश नीति व आयात-निर्यात नीति के चलते पावरलूम से तैयार होने वाले कपड़े का निर्यात बंद हो गया है.

इस वजह से उत्पादन प्रभावित हुआ है. 24 घंटे चलने वाले पावरलूम अब 8 से 12 घंटे चल रहे है. यदि हालात यूं ही बने रहे तो बेरोजगारी की समस्या भयावह हो जाएगी.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2016, 10:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर