लाइव टीवी

सुहाग को मौत के मुंह से वापस लाने के लिए पत्नी ने खतरे में डाल दी खुद की जान
Burhanpur News in Hindi

News18
Updated: November 19, 2015, 4:42 PM IST
सुहाग को मौत के मुंह से वापस लाने के लिए पत्नी ने खतरे में डाल दी खुद की जान
बुरहानपुर में एक पत्नी ने अपने सुहाग की जान बचाने के लिए अपनी किडनी दे दी. महिला के पति की दोनों किडनी खराब हो जाने से उसकी जान खतरे में पड़ गई थी.

बुरहानपुर में एक पत्नी ने अपने सुहाग की जान बचाने के लिए अपनी किडनी दे दी. महिला के पति की दोनों किडनी खराब हो जाने से उसकी जान खतरे में पड़ गई थी.

  • News18
  • Last Updated: November 19, 2015, 4:42 PM IST
  • Share this:
बुरहानपुर में एक पत्नी ने अपने सुहाग की जान बचाने के लिए अपनी किडनी दे दी. महिला के पति की दोनों किडनी खराब हो जाने से उसकी जान खतरे में पड़ गई थी.

ये पूरा मामला है नेपानगर के गांव कलापाठ का. जहां रहने वाले संतोष पवार की दोनों किडनियां फेल हो गई थी. इलाज के लिए पानी की तरह पैसा बहाया गया.

यहां तक कि, खेती की चार एकड़ जमीन के साथ ही पत्नी ने अपने गहने तक बेच दिए. लेकिन हालत में कोई सुधार नहीं आया और संतोष के जिंदा रहने की उम्मीद हर दिन कम होती गई.

ऐसे में पत्नी आशा ने अपने पति को किडनी देने का फैसला किया. जिसके बाद सफलता के साथ किडनी ट्रांसप्लांट कर दिया गया और अब संतोष की हालत में सुधार होना शुरू हो गया है.



आशा का कहना है कि पति की किडनी फेल होते ही घर पर मानों मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा. ऐसे में अपने पति की जिन्दगी बचाने के लिए उसने ये बड़ा फैसला लिया. अब ऑपरेशन सफल होने पर उन्हें खुशी है कि वो अपने पति की जान बचा पाई.

सिरदर्द ने फेल की दोनों किडनी

आशा ने बताया कि उसके पति संतोष का रोज सिरदर्द होता था. इसके लिए वो रोज ही सिरदर्द की गोली लिया करता था. एक दिन अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई. जब उसे अस्पताल ले जाया गया तो वहां उसकी दोनों किडनी फेल होेने के बारे में पता चला.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2015, 4:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,112,117

     
  • कुल केस

    1,548,313

    +30,353
  • ठीक हुए

    344,596

     
  • मृत्यु

    91,600

    +3,145
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर