Home /News /madhya-pradesh /

बिना जांच बुजुर्ग महिला को बता दिया कोरोना पॉजिटिव, घर के बाहर लगा दिए पोस्टर-बैरिकेड

बिना जांच बुजुर्ग महिला को बता दिया कोरोना पॉजिटिव, घर के बाहर लगा दिए पोस्टर-बैरिकेड

एमपी के छतरपुर जिले में 70 साल की बुजुर्ग को बिना जांच के कोरोना पॉजिटिव बता दिया.

एमपी के छतरपुर जिले में 70 साल की बुजुर्ग को बिना जांच के कोरोना पॉजिटिव बता दिया.

Chhtarpur News: एमपी के छतरपुर में 70 साल की बुजुर्ग महिला को स्वास्थ्यकर्मियों ने बिना जांच कोरोना पॉजिटिव बता दिया. इससे परिवार सकते में आ गया. क्योंकि, महिला ने कभी कोरोना जांच कराई ही नहीं थी. विवाद तब और बढ़ गया, जब स्वास्थ्य अमले ने महिला के घर के बाहर पोस्टर-बैरिकेड लगा दिए. इस पर घरवालों ने आपत्ति ली और सीएमएचओ को शिकायत की. सीएमएचओ ने लापरवाही की बात को माना और कार्रवाई करने की बात कही. घटना 8 जनवरी को गौरिहार नगर वार्ड 10 में रहने वाली बुजुर्ग रामप्यारी पटेल के साथ घटी.

अधिक पढ़ें ...

छतरपुर. छतरपुर में स्वास्थ्य विभाग ने 70 साल की बुजुर्ग महिला को बिना जांच के कोरोना पॉजिटिव बता दिया. महिला के घर के बाहर पोस्टर-बैरिकेड लगा दिए. घरवालों ने जब इस बात की शिकायत सीएमएचओ से की तो उन्होंने लापरवाही की बात स्वीकार की और पोस्टर-बैरेकेड हटा दिए. सीएमएचओ इस संबंध लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी कर सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक, ये घटना 8 जनवरी हुई. स्वास्थ्य विभाग कर्मचारी गौरिहार नगर वार्ड 10 में रहने वाली 70 साल की बुजुर्ग रामप्यारी पटेल के घर पहुंचे. उन्होंने महिला को कहा कि आपका 5 जनवरी को कोरोना टेस्ट हुआ था. उसकी रिपोर्ट आ गई है और आप पॉजिटिव हैं. आपको होम आइसोलेट किया जा रहा है. कर्मचारियों ने महिला से कहा कि अब वे अब कमरे से बाहर नहीं आएंगी और परिवार के किसी सदस्य से नहीं मिलेंगी.

स्वास्थ्य अमले ने महिला की सुनी ही नहीं

दूसरी ओर, बुजुर्ग महिला रामप्यारी स्वास्थ्य विभाग के अमले से कहती रहीं कि उन्होंने कोई‎ जांच नहीं कराई है. वे कभी अस्पताल नहीं गईं. यही बात महिला के बेटे‎ शिवदास ने कर्मचारियों से कही. शिवदास ने उनसे पूछा कि जब मां ने‎ जांच ही नहीं कराई, तो फिर कोरोना‎ रिपोर्ट कहां से आ गई, और वो भी पॉजिटिव कहां से आ गई. लेकिन, उनकी इस बात का स्वास्थ्य अमले पर कोई असर नहीं हुआ. उन्होंने महिला के मकान के बाहर‎ कंटेनमेंट जोन का बैनर लगाकर बांस के सहारे बैरिकेटिंग कर दी.

बेटे ने स्वास्थ्य विभाग पर खड़े किए सवाल

इधर, धीरे-धीरे यह खबर पूरे इलाके में फैली और मामले ने तूल पकड़ लिया. इसके बाद गौरिहार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का अमला 2 दिन बाद फिर महिला के घर पहुंचा. स्वास्थ्य कर्मचारियों ने उन्हें समझाते हुए कहा कि जो हो गया है, उसके लिए अब आप शांत रहिए. यह कहकर उन्होंने घर के बाहर से बैरिकेड और पोस्टर हटा दिए. फिलहाल बुजुर्ग रामप्यारी अपने बेटे और बहू के साथ पूरी तरह स्वस्थ हैं. हालांकि, उनके बेटे ने स्वास्थ्य विभाग पर सवालिया निशान लगाया है. उनका कहना है कि मां के बिना अस्पताल जाए, बिना कोई जांच करवाएं किस तरीके से कोरोना पॉजिटिव घोषित कर दिया गया. अगर मेरी मां को यह खबर सुनकर सदमे में कुछ हो जाता तो उसका जिम्मेदार कौन होता. छतरपुर सीएमएचओ का कहना है कि इस मामले की पूरी गंभीरता से जांच की जाएगी और दोषी पर कार्रवाई भी की जाएगी.

Tags: Chhatarpur news, Mp news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर