मरीज़ ऑक्सीजन के लिए तड़प रहे हैं और जमाखोरों ने गोदाम में छुपा रखे थे 83 सिलेंडर

गोदाम संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है.

छतरपुर. प्रशासन का कहना है इस आपदा की घड़ी में सभी को सहयोग करना चाहिए. कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा जरूरत है. सभी लोग आगे आएं और ऑक्सीजन की आपूर्ति करवाएं.

  • Share this:
छतरपुर. कोरोना मरीज़ों (Corona patients) के लिए ऑक्सीजन (Oxygen) की भारी किल्लत के बीच छतरपुर में जमाखोरी की जा रही थी. प्रशासन ने यहां एक गोदाम पर छापा मारकर ऑक्सीजन के 83 सिलेंडर ज़ब्त किए. ये कालाबाज़ारी के लिए रखे गए थे. टीम ने गोदाम सील कर मालिक के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है.

प्रशासन को सूचना मिली थी कि बस स्टैंड स्थित प्रभात ट्रेडिंग कंपनी ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी कर रहा है. कलेक्टर शीलेंद्र सिंह के आदेश पर प्रशासन की टीम ने प्रभात ट्रेडिंग कंपनी के गोदाम पर छापा मारा. जब गोदाम संचालक प्रभात चंसौरिया को बुलाया गया तो उसने कहा मैं यूपी में हूं. अभी नहीं आ सकता. लेकिन जब प्रशासन ने उसके मोबाइल फोन की लोकेशन ट्रेस करवायी तो लोकेशन छतरपुर शहर में ही निकली.

गोदाम का ताला तोड़ा
उसके बाद प्रशासन ने गोदाम के ताले तुड़वा कर छापा मारा तो अंदर 83 सिलेंडर रखे मिले. इनमें से 50 सिलेंडर में ऑक्सीजन भरा हुआ था. प्रशासन ने सारे सिलेंडर ज़ब्त कर कलेक्ट्रेट में रखवा लिए. जांच के बाद अब यह सिलेंडर कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के काम आएंगे.

संकट में भी जमाखोरी
छतरपुर शहर सहित पूरे प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी की लगातार खबरें आ रही हैं. छतरपुर में भी प्रशासन ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए लगातार प्रयास कर रहा है. प्राइवेट कंपनी से भी ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग की जा रही है. लेकिन फिर भी कुछ लोग जमाखोरी और कालाबाज़ारी में लगे हैं. प्रशासन को अंदेशा था कि कुछ लोग ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी कर रहे हैं. प्रशासन को जानकारी लगी कि प्रभात ट्रेडिंग कंपनी के पास सिलेंडर भारी मात्रा में रखे हुए हैं. उसके बाद एडीएम और नायब तहसीलदार और पुलिस की संयुक्त टीम ने गोदाम पर छापा मारा.

सब सहयोग करें
प्रशासन का कहना है इस आपदा की घड़ी में सभी को सहयोग करना चाहिए. कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा जरूरत है. सभी लोग आगे आएं और ऑक्सीजन की आपूर्ति करवाएं. लेकिन फिर भी इस आपदा की घड़ी में कुछ लोग अवसर तलाश कर मुनाफाखोरी कर रहे हैं. गोदाम को सील कर दिया गया है. जांच के बाद संचालक पर कार्रवाई की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.