लाइव टीवी

"तीन महीने के अंदर अधूरे कार्य पूरे नहीं हुए, तो सरपंच का परिवार नहीं लड़ पाएगा चुनाव"

Sunil Upadhyay | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 2:58 PM IST
"तीन महीने के अंदर अधूरे कार्य पूरे नहीं हुए, तो सरपंच का परिवार नहीं लड़ पाएगा चुनाव"

कलेक्टर ने आगामी पंचायत चुनाव को देखते हुए सरपंच को एक आदेश जारी किया है कि जिले की सभी ग्राम पंचायत में सभी अधूरे काम को वे 3 महीने के अंदर पूरा करवाए.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के कलेक्टर का एक फरमान विवादों में आ गया है. कलेक्टर ने आगामी पंचायत चुनाव को देखते हुए सरपंच को एक आदेश जारी किया है कि जिले की सभी ग्राम पंचायत में सभी अधूरे काम को वे 3 महीने के अंदर पूरा करवाए. अगर काम समय सीमा में पूरे नहीं किए गए तो, सरपंच को चुनाव लड़ने पर मिलने वाली शासकीय एनओसी नहीं दी जाएगी और ना ही आगामी चुनाव में सरपंच के परिजन चुनाव लड़ पाएंगे.

फरमान को लेकर सरपंचों मे विरोध शुरू

कलेक्टर का यह आदेश जारी होते ही सरपंचों मे विरोध शुरू हो गया है. सरपंचों का आरोप है कि तीन महीने बरसात का समय होता है. ऐसे में कई काम बरसात में बंद रहते हैं. उनका कहना है कि कलेक्टर को तीन महीने के समय को बढ़ाना चाहिए. वहीं कलेक्टर के इस फैसले के खिलाफ बीजेपी सड़क पर उतरने की धमकी दे रही है.

इधर, प्रशासन कलेक्टर के इस फैसले को सही ठहरा रहा है. उनका कहना है पंचायत नियम में जो उचित होगा वही सही होगा. मामले में एडीएम प्रेम सिंह चौहान ने कहा कि पंचायत के जितने काम अधूरी हैं उन्हें समय सीमा में पूरे करने के उद्देश्य से कलेक्टर ने ये फरमान सुनाया है.

ये भी पढ़ें:- DIG ऑफिस के पास बाइक चोरी करते दो चोर पब्लिक के हत्थे चढ़े 

ये भी पढ़ें:- मजदूरों के दो गुटों में चाकूबाजी, एक की हालत गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए छतरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 26, 2019, 2:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...