Home /News /madhya-pradesh /

छतरपुर में नाम बदलकर रहता था कालीचरण महाराज, साथ में थीं दो महिलाएं; ऐसे हुआ गिरफ्तार

छतरपुर में नाम बदलकर रहता था कालीचरण महाराज, साथ में थीं दो महिलाएं; ऐसे हुआ गिरफ्तार

Kalicharan Maharaj News: महात्मा गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करने पर रायपुर पुलिस ने कालीचरण महाराज को खजुराहो से गिरफ्तार किया.

Kalicharan Maharaj News: महात्मा गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करने पर रायपुर पुलिस ने कालीचरण महाराज को खजुराहो से गिरफ्तार किया.

Kalicharan Maharaj News: महात्मा गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज को रायपुर पुलिस ने गुरुवार को छतरपुर जिले के खजुराहो में गड़ा गांव के बागेश्वर धाम से गिरफ्तार किया. उन्होंने अपना नाम बदलकर एक साधारण कमरा किराए पर लिया था. कमरे का किराया महज 300 रुपये था. इस कमरे का आकार 8 बाई 10 फुट था और इसकी छत टीन की चादर से ढंकी थी. बाबा के साथ दो महिलाएं भी थीं. पता चला है कि सिविल ड्रेस में साइड वाले रूम में रायपुर पुलिस भी ठहरी थी. रात में अलाव तापने बाबा के आते ही पुलिस ने घेर लिया और सुबह 4 बजे उन्हें लेकर रवाना हो गए.

अधिक पढ़ें ...

    छतरपुर. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपशब्द कहने वाले कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) छत्तीसगढ़ पुलिस से बचने के लिए मध्य प्रदेश के खजुराहो में छिपे थे. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से भागकर वे मंगलवार रात खजुराहो पहुंचे थे. उन्होंने यहां से 20 किमी दूर गड़ा गांव के बागेश्वर धाम में एक साधारण कमरा 300 रुपए किराए पर लिया. इस छोटे से कमरे की छत स्टील चद्दर से ढंगी थी. उस वक्त उनके साथ 6 साथी भी मौजूद थे. इनमें दो महिलाएं थीं.

    जानकारी के मुताबिक, जब कालीचरण महाराज ने हॉम स्टे जैसी जगह पर कमरा लिया था तब उन्हें कोई पहचान नहीं सका, क्योंकि उन्होंने मास्क लगाया हुआ था. उनका कमरा राजू के नाम से बुक हुआ. अपना सामान उन्होंने खुद उठा रखा था. उन्होंने खुद अपने और साथियों के लिए 103, 109 और 112 नंबर का कमरा लिया. सूत्र बताते हैं कि वे मंगलवार रात कमरे में गए तो सुबह तक बाहर नहीं आए. सुबह साढ़े दस बजे वह बागेश्वर धाम के मंदिर चले गए. इसके बाद रात तीन बजे आए. बताया जाता है कि कालीचरण महाराज के आने से पहले पुलिस ने भी उसी जगह डेरा जमा लिया था. किसी को इसकी जानकारी नहीं थी, क्योंकि पुलिस सादे कपड़ों में थी. पुलिस ने अलाव जलाकर रातभर कालीचरण महाराज का इंतजार किया और जैसे ही वह तीन बजे आए पुलिस ने उन्हें घेर लिया गया. छत्तीसगढ़ पुलिस सुबह 4 बजे ही कालीचरण बाबा को लेकर रवाना हो गई.

    एक कमरे में ठहर सकते थे तीन लोग

    जिस स्टे हॉम में कालीचरण महाराज और उनके साथियों ने पनाह ली, वहां एक कमरे में तीन लोगों के ठहरने की व्यवस्था है. एक व्यक्ति से 100 रुपए लिए जाते हैं. इस हिसाब से कमरे का किराया 300 रुपए था. उनके कमरे में छोटा पंखा था और छत टीन की थी. उन्होंने यहां खाने की बजाए बिस्किट खाए और मिनरल वॉटर पिया. गिरफ्तारी के बाद बाबा का अंगवस्त्र और जूते कमरे में ही पड़े थे.

    छत्तीसगढ़ पुलिस पर प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप

    रायपुर में महात्मा गांधी पर खराब टिप्पणी के आरोप में कालीचरण महाराज को रायपुर पुलिस ने मप्र के खजुराहो से गिरफ्तार किया. इस बीच इंटर स्टेट प्रोटोकॉल के उल्लंघन का हवाला देते हुए मप्र के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी पर आपत्ति दर्ज कराई है. मिश्रा का कहना है कि छत्तीसगढ़ सरकार नोटिस भेजकर भी बुला सकती थी. आने से पहले ना सही गिरफ्तारी करने पर मध्य प्रदेश पुलिस को जानकारी तो देती. मिश्रा ने मध्य प्रदेश डीजीपी को छत्तीसगढ़ डीजीपी से पूरे तरीके पर विरोध दर्ज कराने के साथ स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए हैं. इधर, छ्त्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गिरफ्तारी को सही ठहराते हुए नरोत्तम मिश्रा पर पलटवार किया है.

    Tags: Chhatarpur news, Mp news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर