लाइव टीवी
Elec-widget

छतरपुर: कृषि विभाग की लापरवाही से खेतों में पड़ी लाखों की अमानक खाद

Sunil Upadhyay | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 20, 2019, 2:06 PM IST
छतरपुर: कृषि विभाग की लापरवाही से खेतों में पड़ी लाखों की अमानक खाद
कृषि विभाग की लापरवाही से अपने खेतों में अमानक खाद डाल चुके हैं किसान

छतरपुर (Chhatarpur) में कृषि विभाग की लापरवाही से किसानों ने अपने खेतों में अमानक खाद डाल दी है. खेतों में खाद डालने के बाद सैंपल जांच के लिए भेजे गए. प्रयोगशाला ने इन सैंपलों को खारिज़ कर दिया है. खास बात ये है कि अब तक कृषि विभाग की लापरवाही से लाखों रुपयों की खाद किसानों के खेतों में डल चुकी है.

  • Share this:
छतरपुर. मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में कृषि विभाग (Agriculture Department) की बड़ी लापरवाही सामने आई है. जिले के हरपालपुर रेलवे स्टेशन (Harpalpur) पर अक्टूबर माह में किसानों के लिए एनएफएल कंपनी (NFL) की 'किसान डीएपी खाद' आई थी, खाद आई भी और किसानों को बेची भी गई और किसानों ने उस खाद को अपने खेतों में डाल भी दिया. खाद आने के बाद जिले के अलग अलग संस्थानों से 18 अक्टूबर को उक्त डीएपी के 7 सेम्पल भरकर प्रभारी उर्वरक गुण नियंत्रक प्रयोगशाला उज्जैन भेजे गए. इस प्रयोगशाला से मिली रिपोर्ट के मुताबिक खाद को अमानक स्तर (Non standard Compost) का बताया गया है.

अमानक खाद की बिक्री पर रोक
कृषि विभाग ने इस खाद की बिक्री पर रोक लगा दी है, साथ ही कार्रवाई के बाद एफआईआर की बात कही है लेकिन लापरवाही का आलम देखिए. रिपोर्ट आने के पहले विपणन संघ के डबल लॉक गोदाम, सहकारी समिति, निजी खाद विक्रेताओं के द्वारा लाखों रुपये की खाद किसानों को बेची जा चुकी है और किसान इस अमानक खाद को अपने खेतों में डाल भी चुके हैं.

किसानों के नकसान पर विभाग की चुप्पी

कृषि विभाग द्वारा सेम्पल फेल बची हुई अमानक खाद में न तो क्रॉस मार्किंग की गई और न उसे अलग गोदाम में रखवाया गया है. वहीं किसानों को इस अमानक खाद बेचे जाने और उसे खेतो में छिड़के जाने के बाद किसानों को होने वाले नुकसान पर फिलहाल कृषि विभाग चुप्पी साधे हुए है.

ये भी पढ़ें -
मध्य प्रदेश में पार्षद ही चुनेंगे मेयर और अध्यक्ष, सरकार के फैसले पर हाईकोर्ट ने मुहर लगाई
Loading...

मंदसौर: तमंचा लहराकर TIKTOK VIDEO बनाने वाले युवक गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए छतरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 2:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...