मुस्लिम महिला ऑफिसर ने सिर पर रखी शंकराचार्य की चरण पादुका, सुनाई चौपाई

छिंदवाड़ा पहुंची आदि शंकराचार्य की एकात्म यात्रा के स्वागत में जिला खाद्य अधिकारी नुजहत बानो ने आदि शंकराचार्य की चरण पादुका को सिर पर उठाया

Rajesh Karmale | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 10:44 PM IST
मुस्लिम महिला ऑफिसर ने सिर पर रखी शंकराचार्य की चरण पादुका, सुनाई चौपाई
छिंदवाड़ा पहुंची आदि शंकराचार्य की एकात्म यात्रा के स्वागत में जिला खाद्य अधिकारी नुजहत बानो ने आदि शंकराचार्य की चरण पादुका को सिर पर उठाया
Rajesh Karmale | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 10:44 PM IST
मध्य प्रदेश में छिंदवाड़ा पहुंची आदि शंकराचार्य की एकात्म यात्रा के स्वागत में जिला खाद्य अधिकारी नुजहत बानो ने आदि शंकराचार्य की चरण पादुका को सिर पर उठाया. यह दूसरा अवसर था जब एक महिला मुस्लिम अधिकारी ने सिर पर चरण पादुका रखकर भ्रमण किया हो. इसके पूर्व मंडला कलेक्टर ने सिर पर चरण पादुका रखी थी.

छिंदवाड़ा में महिला मुस्लिम अधिकारी ने तो बाकायदा मंच से चौपाई सुनाकर अपना संबोधन भी दिया. उन्होने आदि शंकराचार्य को धर्मगुरु बताया. राम मंदिर के सामने पहुंची एकात्म यात्रा का लोगों ने भव्य स्वागत किया.

बता दें कि, मध्य प्रदेश में एकात्म यात्रा के दौरान कई जिलों के अधिकारियों द्वारा शंकराचार्य की चरण पादुकायें सिर पर रखने से राजनैतिक बयानबाजी बढ़ गई हैं.

दरअसल, आदि शंकराचार्य की एकात्म यात्रा जब डिंडोरी जिले से होकर मंडला जिले के चाबी गांव पहुंची थी तो यात्रा की अगवानी और स्वागत के दौरान कलेक्टर सूफ़िया फारुखी एक अलग ही रंग में नजर आईं थीं. यात्रा के दौरान कलेक्टर शंकराचार्य जी के चरण पादुका वाले बाक्स को अपने सिर पर रखकर करीब एक किलोमीटर की पदयात्रा की थी.

इसके बाद दमोह कलेक्टर डाक्टर श्रीनिवास शर्मा ने भी शंकराचार्य के चरण पादुका को अपने सिर पर रखकर पदयात्रा की थी. और मुख्यमंत्री के गृह ज़िले विदिशा में कलेक्टर अनिल सुचारी ने शंकराचार्य की चरण पादुकायें भी अपने सर पर रखीं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर