Home /News /madhya-pradesh /

दीये की रोशनी में पढ़कर बेटी ने किया उजाला, मेरिट लिस्ट में देख पिता की आंखों से छलके आंसू

दीये की रोशनी में पढ़कर बेटी ने किया उजाला, मेरिट लिस्ट में देख पिता की आंखों से छलके आंसू

प्रदेश18 को सीमा लोधी ने बताया कि, उन्होंने काफी विषम परिस्थितियों में पढ़ाई कर यह असफलता हासिल की है. सीमा के पिता संतोष सिंह लोधी एक गरीब किसान हैं, जो कमजोर आर्थिक हालत के चलते उसे जिले के मगरधा के सरकारी स्कूल में पढ़ा रहे थे.

प्रदेश18 को सीमा लोधी ने बताया कि, उन्होंने काफी विषम परिस्थितियों में पढ़ाई कर यह असफलता हासिल की है. सीमा के पिता संतोष सिंह लोधी एक गरीब किसान हैं, जो कमजोर आर्थिक हालत के चलते उसे जिले के मगरधा के सरकारी स्कूल में पढ़ा रहे थे.

प्रदेश18 को सीमा लोधी ने बताया कि, उन्होंने काफी विषम परिस्थितियों में पढ़ाई कर यह असफलता हासिल की है. सीमा के पिता संतोष सिंह लोधी एक गरीब किसान हैं, जो कमजोर आर्थिक हालत के चलते उसे जिले के मगरधा के सरकारी स्कूल में पढ़ा रहे थे.

अधिक पढ़ें ...
  • Pradesh18
  • Last Updated :
    मध्यप्रदेश में 10वीं बोर्ड परीक्षा के परीक्षा परिणाम घोषित हो चुके हैं. इस बार कुल 53.87 फीसदी परिणाम रहा है. इन नतीजों की मेरिट लिस्ट में नरसिंहपुर जिले की सीमा लोधी ने 585 अंक प्राप्त कर पांचवां स्थान प्राप्त किया है.

    परीक्षा परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें 

    प्रदेश18 को सीमा लोधी ने बताया कि, उन्होंने काफी विषम परिस्थितियों में पढ़ाई कर यह सफलता हासिल की है. सीमा के पिता संतोष सिंह लोधी एक गरीब किसान हैं, जो कमजोर आर्थिक हालत के चलते उसे जिले के मगरधा के सरकारी स्कूल में पढ़ा रहे थे.

    उधर, सीमा ने खुद बताया कि परीक्षाओं के समय गांव में बिजली नहीं रहती थी. इस वजह से उसे दीये की रोशनी में पढ़ाई करनी पड़ती थी. मेधावी छात्रा सीमा का कहना है कि वह 11वीं क्लास में गणित संकाय को चुनेंंगी और वह आईएएस बनकर देश की सेवा बनना चाहती हैं.

    इस मौके पर मौजूद सीमा के प्रिंसिपल ने बताया कि वो हमेशा कक्षा में पढ़ाई के दौरान सवाल करती थी. इस बात से वो काफी प्रभावित हुए थे. इसके बाद ही उन्होंने और अन्य शिक्षकों ने उस पर विशेष ध्यान देना शुरू किया था.

    seema02

    उल्लेखनीय है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं बोर्ड का परीक्षा परिणाम सोमवार चार बजे घोषित कर दिए हैं. इस बार कक्षा 10वीं में प्रदेश भर से 12 लाख 28 हजार 703 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. विदित हो कि पिछले वर्ष 2015 में 10वीं कक्षा का रिजल्ट 47.04 फीसदी रहा था. जबकि इस बार बढ़कर 53.87 प्रतिशत हो गया.

    आईएएस बनना चाहता है किसान का बेटा
    मध्यप्रदेश के माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं क्लास की परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं. इन परिणामों की प्रावीण्य सूची में आगर मालवा जिले के छोटे से गांव में रहने वाले किसान के बेटे रीतेश गुप्ता ने जगह बनाई है.

    10वीं बोर्ड परीक्षा की मेरिट सूची में स्थान पाने वाले रीतेश आगर मालवा जिले के सोयतकलाॅॅ कस्बा के विवेकानंद राष्ट्रीय विद्यालय के छात्र हैं. रीतेश की इस सफलता में उनके माता-पिता और शिक्षकों का विशेष योगदान है.

    प्रदेश18 को मेधावी छात्र रीतेश गुप्ता ने बताया कि, उन्होंने पूरी साल नियमित 8-10 घंटे पढ़ाई की है. चालीस सदस्यों के संयुक्त परिवार में रहने वाले रीतेश के पिता एक साधारण किसान हैं और मां गृहणी हैं.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर