Home /News /madhya-pradesh /

टूर दी सतपुड़ा: घने जंगल और पहाड़ों पर साइकिल से 400 KM का सफर

टूर दी सतपुड़ा: घने जंगल और पहाड़ों पर साइकिल से 400 KM का सफर

मध्यप्रदेश के पर्यटन के प्रति लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने के मकसद से साइकिल टूरिज्म का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत पर्यटक चार दिनों तक सतपुड़ा की वादियों का आनंद ले सकेंगे.

मध्यप्रदेश के पर्यटन के प्रति लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने के मकसद से साइकिल टूरिज्म का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत पर्यटक चार दिनों तक सतपुड़ा की वादियों का आनंद ले सकेंगे.

मध्यप्रदेश के पर्यटन के प्रति लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने के मकसद से साइकिल टूरिज्म का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत पर्यटक चार दिनों तक सतपुड़ा की वादियों का आनंद ले सकेंगे.

    मध्यप्रदेश के पर्यटन के प्रति लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने के मकसद से साइकिल टूरिज्म का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत पर्यटक चार दिनों तक सतपुड़ा की वादियों का आनंद ले सकेंगे.

    एमपी टूरिज्म बोर्ड द्वारा चार दिवसीय 400 किलोमीटर 'टूर दी सतपुड़ा' साइकिल टूरिज्म का आयोजन किया गया है. 19 से 22 अगस्त तक होने वाले इस रोचक एडवेंचर साइकिलिंग टूरिज्म में स्वीडन, गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, मध्यप्रदेश तथा अन्य राज्यों के 42 प्रतिभागी भाग लेंगे.

    पर्यटन सचिव एवं टूरिज्म बोर्ड के प्रबंध निदेशक हरि रंजन राव ने बताया, "मध्य प्रदेश देश का पहला राज्य है जो इस रोचक साइकिलिंग टूरिज्म इवेंट का आयोजन कर रहा है. इसका मुख्य उद्देश्य पर्यावरण अनुकूल पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही देश-विदेश के साइकिल पर्यटक को मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थल को बढ़ावा देना है."

    बताया गया है कि 'टूर दी सतपुड़ा' सतपुड़ा की हरी-भरी वादियों, पहाड़ों के खूबसूरत रास्तों से होकर गुजरेगी. इसकी शुरुआत 19 अगस्त को छिंदवाड़ा जिले के रामकोना गांव से होगी. साइकिल राइडर्स छिंदवाड़ा से 97 किलोमीटर की यात्रा कर तामिया पहुंचेंगे. वे पातालकोट भी जाएंगे.

    दूसरे दिन सुबह 81 किलोमीटर की ऊंची-नीची तथा सतपुड़ा की खूबसूरत पहाड़ियों से होते हुए पचमढ़ी पहुंचेंगे. तीसरे दिन प्रतिभागी 120 किलोमीटर की यात्रा तय करेंगे. वे पिपरिया, सोहागपुर होते हुए होशंगाबाद के मढ़ई पहुंचेंगे. चौथे व आखिरी दिन प्रतिभागी बाबई एवं इटारसी होते हुए 94 किलोमीटर का सफर तय कर तवा डेम पहुंचेंगे.

    बताया गया है कि समापन समारोह तवा रिसोर्ट पर होगा, जिसमें विजेताओं और प्रतिभागियों को पुरस्कार और प्रमाण-पत्र वितरित किए जाएंगे. प्रत्येक दिन शाम को एक प्रख्यात साइकिलिस्ट अपने अनुभवों तथा साइकिलिंग के विभिन्न पहलुओं पर अपने विचार साझा करेंगे.

    दुनिया की सबसे कठिन साइकिल रेस प्रतियोगिता 'रेस एक्रोस अमेरिका' (रेम) के पहले भारतीय सोलो फिनिशर साइकिलिस्ट डॉ. अनिल समर्थ इस प्रतियोगिता के दूसरे दिन अपने संस्मरणों को साझा करेंगे. डॉ. समर्थ को 'टूर दी सतपुड़ा' का ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है.

     

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर