Home /News /madhya-pradesh /

छिंदवाड़ा लोकसभा रिजल्ट: मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ जीत की ओर बढ़े

छिंदवाड़ा लोकसभा रिजल्ट: मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ जीत की ओर बढ़े

पिता कमलनाथ की विरासत संभाल पा रहे हैं नकुलनाथ?

पिता कमलनाथ की विरासत संभाल पा रहे हैं नकुलनाथ?

छिंदवाड़ा लोकसभा नतीजे (Chhindwara Election Result): छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर चौथे चरण की मतगणना भी पूरी हो चुकी है. चौथे राउंड तक मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ आगे हैं.

    लोकसभा चुनाव 2019 में मध्य प्रदेश की छिंदवाड़ा सीट के नतीजे आ रहे हैं. राज्य काफी अरसे से भाजपा के गढ़ के तौर पर पहचाना जाता है लेकिन मप्र की ये सीट कांग्रेस का गढ़ रही है क्योंकि पिछले 35 सालों से कमलनाथ ही यहां से जीतते रहे हैं. इस बार उनके बेटे नकुलनाथ इस लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं. छिंदवाड़ा से नतीजे आ रहे हैं और कांग्रेस प्रत्याशी नकुलनाथ बाज़ी मारते दिख रहे हैं. भाजपा प्रत्याशी नत्थन शाह के मुकाबले नाथ इस सीट पर जीत रहे हैं. छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर चौथे चरण की मतगणना भी पूरी हो चुकी है. चौथे राउंड तक मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ 4429 वोट से आगे हैं.

    पिता की छाया से निकलने की जुगत
    राजनीतिक करियर की शुरूआत में ही नकुलनाथ लोकप्रिय हैं. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल अब पूरी तरह सक्रिय राजनीति में हैं. लोकसभा चुनाव 2019 में नकुल अपने पिता की पारंपरिक सीट छिंदवाड़ा से मैदान में हैं. छिंदवाड़ा लोकसभा सीट देश और मध्य प्रदेश की सबसे चर्चित सीट मानी जाती है. यहां पर पिछले पैंतीस सालों से पूर्व केंद्रीय मंत्री और वर्तमान मुख्यमंत्री कमलनाथ जीत दर्ज करते आए हैं.

    नकुलनाथ पिछले कई महीनों से छिंदवाड़ा और मध्य प्रदेश की राजनीति में चर्चा का विषय बने. जब कमलनाथ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तभी यह तय था कि छिंदवाड़ा सीट से अगले प्रत्याशी नकुल ही होंगे. इसके बाद कांग्रेस ने बाकायदा नकुल के नाम की घोषणा की और उन्हें प्रत्याशी बनाया. माना गया कि इस सीट पर नकुलनाथ को जीत दर्ज करने में कोई कठिनाई नहीं होगी.

    नकुल कमलनाथ के बड़े बेटे हैं. हालांकि उनके व्यक्तिगत जीवन की तस्वीरें बहुत कम सामने आती हैं लेकिन कमलनाथ के बाद उनका पूरा बिजनेस नकुल ही संभालते हैं. कमलनाथ के छिंदवाड़ा के सभी प्रोजेक्ट्स नकुल की ही देखरेख में रहे. नकुल विदेश में भी अपने पिता के साथ जाते रहते हैं.

    पिता और पुत्र की जोड़ी
    नकुलनाथ की पढ़ाई के बारे में कोई ठोस जानकारी कहीं नहीं है. इस बार जब छिंदवाड़ा से अपना नामांकन भर रहे थे तो भी उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में जानकारी नहीं दी थी और वह कॉलम खाली छोड़ दिया था. छिंदवाड़ा के लोग नकुलनाथ को प्यार से नकुल कहते हैं. वो ज्यादातर चुप ही रहते हैं.

    अभी नकुल का राजनीतिक करियर शुरू ही हुआ है. फिर भी वो लोकप्रिय हैं. उनके काम करने का तरीका उनके पिता से ही मिलता जुलता है. उनके बोलने का स्टाइल भी पिता जैसा है. छिंदवाड़ा की सभी विधानसभाओं में वे लोगों की समस्या सुनते हैं और सुलझाने की पूरी कोशिश करते हैं. स्थानीय विधायक नकुल के ही संपर्क में ज्यादा रहते हैं.

    लोकसभा चुनाव से पहले नकुल की सियासी लॉन्चिंग की पहली झलक भी सामने आई थी. जब मुख्यमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा पहुंचे तो नकुल भी उनके साथ मौजूद थे और कमलनाथ की मौजूदगी में ही नकुल के समर्थन में जमकर नारे लगे. समर्थकों की ओर से जोर शोर से 'हमारा सांसद कैसा हो नकुलनाथ जैसा हो' के नारे लगाए गए.

    Tags: Chhindwara loksabha result s12p16, Lok Sabha Election 2019

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर