Home /News /madhya-pradesh /

मौत के बाद भी सुकून नहीं, अंतिम संस्कार के लिए परिवार दर-दर भटकने को मजबूर

मौत के बाद भी सुकून नहीं, अंतिम संस्कार के लिए परिवार दर-दर भटकने को मजबूर

एमपी के नरसिंहपुर जिले के बन्देसुर गांव में कुछ लोगों के श्मशान की जमीन पर खेती करने का खामियाजा आसपास के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. यहां रहने वाले परिवारों को अपने परिवार में किसी के देहांत होने पर मजबूरन अपने ही गांव से बाहर जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है.

एमपी के नरसिंहपुर जिले के बन्देसुर गांव में कुछ लोगों के श्मशान की जमीन पर खेती करने का खामियाजा आसपास के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. यहां रहने वाले परिवारों को अपने परिवार में किसी के देहांत होने पर मजबूरन अपने ही गांव से बाहर जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है.

एमपी के नरसिंहपुर जिले के बन्देसुर गांव में कुछ लोगों के श्मशान की जमीन पर खेती करने का खामियाजा आसपास के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. यहां रहने वाले परिवारों को अपने परिवार में किसी के देहांत होने पर मजबूरन अपने ही गांव से बाहर जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है.

अधिक पढ़ें ...
    एमपी के नरसिंहपुर जिले के बन्देसुर गांव में कुछ लोगों के श्मशान की जमीन पर खेती करने का खामियाजा आसपास के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. यहां रहने वाले परिवारों को अपने परिवार में किसी के देहांत होने पर मजबूरन अपने ही गांव से बाहर जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है.

    अतिक्रमण के कारण हो रही इस परेशानी का शिकार इस बार गांव का मेहरा परिवार बना. जानकारी के मुताबिक, मेहरा परिवार के बुजुर्ग जीवनलाल मेहरा की बीमारी के चलते मौत हो गई. जिसके बाद भूमिहीन इस गरीब परिवार के सामने अपने मुखिया के अंतिम संस्कार के लिए स्थान को लेकर परेशानी खड़ी हो गई.

    दरअसल, गांव की श्मशान की जगह पर लोगों ने अतिक्रमण कर खेती शुरू कर दी है. ऐसे में अतिक्रमणकारियों ने मेहरा परिवार को श्मशान की जमीन पर जीवनलाल का अंतिम संस्कार नहीं करने दिया. आखिरकार परिवार और गांव वालों ने मिलकर जीवनलाल का अंतिम संस्कार गांव के बाहर तालाब किनारे सरकारी जमीन पर किया.

    वहीं जानकारी मिलने पर प्रशासन का अमला भी मौके पर पहुंचा और उन्होंने अतिक्रमण करने वालों को नोटिस थमाया. जांच करने आई नायब तहसीलदार गीतांजलि शर्मा ने कहा कि मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है. अतिक्रमणकारियों को अतिक्रमण हटाने के लिए 15 दिन दिए गए हैं, ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर