Home /News /madhya-pradesh /

सौंसर विधानसभा सीट क्यों है मुख्यमंत्री कमलनाथ की पहली पसंद!

सौंसर विधानसभा सीट क्यों है मुख्यमंत्री कमलनाथ की पहली पसंद!

मुख्यमंत्री कमलनाथ (File Photo)

मुख्यमंत्री कमलनाथ (File Photo)

कमलनाथ ने कहा कि उपचुनाव को लेकर वे सौंसर की जनता से बात करके अंतिम निर्णय लेंगे. कमलनाथ के इस बयान के बाद सौंसर विधानसभा को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं

    मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने रविवार को कहा कि वह छिंदवाड़ा जिले की सौंसर सीट से विधानसभा उपचुनाव लड़ने को प्राथमिकता देंगे. इसके लिए वह सौंसर की जनता से बात करके अंतिम निर्णय लेंगे. कमलनाथ के इस बयान के बाद सौंसर विधानसभा को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं.

    दरअसल, विधानसभा चुनाव के बाद जब कमलनाथ और सिंधिया को लेकर मुख्यमंत्री पद के चयन की बात चल रही थी तो कांग्रेस के कई ऐसे विधायक सामने आए जिन्होंने कमलनाथ और सिंधिया के लिए अपनी अपनी-अपनी सीट छोड़ने का प्रस्ताव रख दिया था. हालांकि मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ का नाम आने के बाद कमलनाथ के समर्थक विधायक अपनी सीटें देने की बात कर रहे हैं, लेकिन कमलनाथ ने खुद ही सौंसर सीट से लड़ने की इच्छा जताई है.

    कमलनाथ ने क्यों सौंसर सीट पर उपचुनाव लड़ने की इच्छा जताई है इसके कारणों में जाएं तो कई कारण सामने आते हैं. सौंसर उनके गढ़ छिंदवाड़ा की विधानसभा सीट है.

    कमलनाथ खुद सौंसर विधानसभा के वोटर हैं 
    छिंदवाड़ा जिले में सात विधानसभा सीटें हैं. उसी में से एक है सौंसर विधानसभा. कमलनाथ छिंदवाड़ा और प्रदेश की जनता को यह सकारात्मक संदेश भी देना चाहते हैं. न्यूज18 के इंटरव्यू में उन्होंने स्वीकार भी किया था कि उनके ऊपर सौंसर से लड़ने का दबाव भी है. वहां के लोग लगातार मांग कर रहे हैं कि वे यहीं से चुनाव लड़ें.

    उनके गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा की विधानसभा
    छिंदवाड़ा जिले में विधानसभा की सात सीटें हैं और इनमें से चार सीटें अमरवाड़ा (एसटी), परासिया (एससी) , जुन्नारदेव (एसटी) और पांढुर्णा (एसटी) आरक्षित वर्ग के लिये हैं. जबकि कमलनाथ सामान्य वर्ग से ताल्लुक रखते हैं इसलिए वह जिले में तीन बची सामान्य सीटों छिंदवाड़ा, सौंसर और चौरई से ही उपचुनाव में प्रत्याशी बन सकते हैं.

    सौंसर के कांग्रेस प्रत्याशी को सबसे अधिक वोट मिले
    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजों में सौंसर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के विजय चौरे ने बीजेपी के नानाभाऊ मोहोद को शिकस्त दी. कांग्रेस प्रत्याशी को 86700 वोट और बीजेपी प्रत्याशी को 66228 वोट मिले हैं. यह छिंदवाड़ा की सभी विधानसभाओं में कांग्रेस प्रत्याशी को सबसे ज्यादा वोट मिलने वाली सीट है.

    इन विधायकों ने की थी सीट छोड़ने की पेशकश
    कमलनाथ के लिए जिन विधायकों ने अपनी सीटें छोड़ने की पेशकश की थी उसमें मंत्री भी शामिल हैं. मुलताई से विधायक बने और फिर बाद में कमलनाथ कैबिनेट में मंत्री बने सुखदेव पांसे ने अपनी सीट छोड़ने की पेशकश की थी. इसके अलावा छिंदवाड़ा से विधायक और कमलनाथ के खास माने जाने वाले दीपक सक्सेना ने भी सीट छोड़ने की पेशकश की थी. वहीं सौंसर विधानसभा से कांग्रेस विधायक विजय चौरे ने तो पहले ही कहा था कि वे सीट छोड़ देंगे.

    हालांकि कमलनाथ ने अभी सिर्फ संकेत ही दिया है लेकिन यह तय माना जा रहा है कि वे सौंसर से ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. सौंसर विधानसभा सीट को लेक्ट सियासी अटकलें और पैमाने मध्य प्रदेश की राजनीति में तेज हो गए हैं अब देखना दिलचस्प होगा कि कमलनाथ इसका ऐलान कब करेंगे.

    यह भी पढ़ें- कमलनाथ बोले- सौंसर सीट से लड़ना चाहूंगा उपचुनाव

    Tags: Bhopal news, Congress, Kamal nath, Madhya Pradesh Assembly, Madhya pradesh elections

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर