लाइव टीवी

MP: पूर्व गृहमंत्री के करीबी से ठगी करने वाला गैंग पकड़ा गया, सरगना समेत 3 गिरफ्तार
Mandsaur News in Hindi

Narendra Dhanotiya | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 3, 2020, 11:39 PM IST
MP: पूर्व गृहमंत्री के करीबी से ठगी करने वाला गैंग पकड़ा गया, सरगना समेत 3 गिरफ्तार
पुलिस के हत्थे चढ़े इस गैंग ने राजस्थान के कई विधायकों के करीबी ठेकेदारों को भी ठगा है

मंदसौर पुलिस ने एक ऐसे अंतरराज्यीय ठग गिरोह (Con Gang) के 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जो विधायकों को झांसे में लेकर उनके संबंधितों को करोड़ों रुपये के सरकारी प्रोजेक्ट दिलाने के बहाने ठगी करते थे

  • Share this:
मंदसौर. प्रदेश की मंदसौर पुलिस (Mandsaur Police) की गिरफ्त में आए तीनों शातिर बदमाश अपने आप को भारत सरकार का आदमी बताते थे और विधायकों को अपने झांसे में लेकर उनके संपर्क वाले ठेकेदारों को करोड़ों रुपए के रेलवे सहित अन्य विभागों के प्रोजेक्ट (Project) दिलाने के नाम पर झांसे में लेते थे और उनके साथ अर्नेस्ट मनी (Earnest money) जमा कराने के नाम पर ठगी करते थे.

ऐसे देते थे ठगी की वारदात को अंजाम
गिरोह के सदस्य पहले विधायक को फोन करते थे और उनसे कहते थे कि हम भारत सरकार का कामकाज आजकल देख रहे हैं और रेलवे सहित बड़े प्रोजेक्ट का काम दिलवाते हैं आप के संपर्क में कोई ठेकेदार हो तो बताइए. उनकी बातों के झांसे में आकर विधायक किसी अपने आदमी को उनका नंबर दे देते थे और फिर ठेकेदार उनकी बातों के झांसे में आकर ठगी का शिकार हो जाते थे. ऐसे ही ठगी का शिकार हुए मन्दसौर का ठेकेदार अजय आर्य भी किसी जनप्रतिनिधि के माध्यम से ही इन लोगों के झांसे में आ गए.

बदमाशों से फर्जी सिम, बैंक रिकार्ड बरामद

अजय आर्य प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री जगदीश देवड़ा के करीबी बताए जाते हैं और उन्हीं के माध्यम से लुटेरों के संपर्क में आए. पुलिस की गिरफ्त में आए गिरोह के सरगना अभिषेक रंजन पांडे दानापुर, अजय विश्वकर्मा रुकनपुरा पटना बिहार और चितरंजन चौबे जिला भोजपुर बिहार के पास से कई फर्जी सिम, कई बैंक खातों की डिटेल और कई फर्जी दस्तावेज मिले हैं, जिनका उपयोग यह लोगों को ठगने में करते थे.

इन लोगों से की ठगी की वारदात
गिरोह के इन सदस्यों ने राजस्थान के विधायक अनिमेष महर्षि के करीबी ठेकेदार प्रकाश यादव से 3,82,000 की ठगी तथा लूनी राजस्थान के विधायक महेंद्र सिंह विश्नोई के करीबी हनुमान राम बिश्नोई से 6,95,143 रुपए की ठगी और राजस्थान के ही एक अन्य विधायक के करीबी सतीश कुमार से भी 1,65,000 की धोखाधड़ी की. इन लोगों से ये पैसे रेलवे का 11 करोड़ का प्रोजेक्ट का टेंडर दिलाने का लालच देकर की गई.एसपी से की शिकायत
मन्दसौर के ठेकेदार अजय आर्य द्वारा 650000 की अर्नेस्ट मनी जमा करने के बहुत दिनों बाद भी जब इन बदमाशों से कोई संपर्क नहीं हुआ, मोबाइल भी बंद मिले तब अजय को शंका हुई और पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे और शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने जांच के बाद एफआईआर दर्ज कर बिहार के पटना से इन बदमाशों की गिरफ्तारी की है.

रेलवे का प्रोजेक्ट दिलाने के नाम पर ठगी
मन्दसौर के पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी ने न्यूज़ 18 को बताया कि बदमाशों ने अजय आर्य नाम के व्यक्ति को रेलवे का करोड़ों रुपए का प्रोजेक्ट दिलाने के नाम पर झांसे में लिया और खुद को बड़ा आईएएस अधिकारी बताया बदमाशों ने अजय आर्य से अर्नेस्ट मनी के रूप में 6,50,000 जमा भी करवा लिए बाद में जिस बैंक खाते में पैसे जमा करवाए थे वह बैंक खाता भी बंद कर दिया और जिस नंबर से फोन किया था वह नंबर भी बंद कर दिया.

पुलिस पकड़े गए तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है. बताया जा रहा है कि इसमें से गिरोह का मुख्य सरगना आईएएस की परीक्षा पास कर चुका है और बिहार में किसी विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुका है.

ये भी पढ़ें -
बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने फिर दिया विवादित बयान, मंत्री जीतू पटवारी का करारा जवाब
25 हज़ार यूथ वोटर्स को गांधी दर्शन पढ़ाएंगे CM कमलनाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंदसौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2020, 9:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर