महिला की 16वें बच्‍चे को जन्म देने के बाद मौत, CMO ने दिए जांच के आदेश

महिला के 16 बच्‍चों से 8 जीवित हैं.(सांकेतिक फोटो)
महिला के 16 बच्‍चों से 8 जीवित हैं.(सांकेतिक फोटो)

दमोह (Damoh) के बटियागढ़ थानांतर्गत ग्राम पाडाझिर में एक 45 वर्षीय महिला ने अपने 16वें बच्चे को जन्म देने के बाद दम तोड़ दिया. यही नहीं, उसके नवजात बच्‍चे की भी मौत हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 7:09 PM IST
  • Share this:
दमोह. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के दमोह जिले (Damoh District) के बटियागढ़ थानांतर्गत ग्राम पाडाझिर से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है. यहां एक 45 वर्षीय महिला ने शनिवार को अपने 16वें बच्चे को जन्म दिया, लेकिन उसके कुछ ही घंटों बाद ही महिला एवं उसके नवजात बेटे ने दम तोड़ दिया. जबकि आशा कार्यकर्ता कल्लो बाई विश्वकर्मा ने रविवार को बताया कि पाड़ाझिर निवासी सुखरानी अहिरवार ने शनिवार को अपने 16वें बच्चे को जन्म दिया. प्रसव के दौरान गंभीर हालत के चलते परिजन उसे और उसके नवजात बच्चे को तत्काल हटा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गये, लेकिन रास्ते में ही मां-बेटा दोनों की मौत हो गई. यही नहीं, इस मामले में दमोह जिले की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी (CMO Dr. Sangeeta Trivedi) ने जांच के आदेश दिए हैं.

15 बच्‍चों में से इतने हैं जीवित
इसके अलावा आशा कार्यकर्ता कल्लो बाई विश्वकर्मा ने कहा कि महिला सुखरानी अहिरवार सोलहवीं बार मां बनी थी. महिला की पहले की 15 संतानों में से मात्र 4 लड़के और 4 लड़कियां जीवित हैं, जबकि 7 बच्चों की पहले ही मौत हो चुकी है. आपको बता दें कि पाड़ाझिर गांव दमोह जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर है.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी ने कही ये बात
इसी बीच, दमोह जिले की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी ने कहा कि शासन की इतनी योजनाओं के बाद भी अभी तक इस महिला का परिवार नियोजन ना होना जांच का विषय है. इसकी जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज