अपना शहर चुनें

States

शिक्षक ने गांव में तैयार किए तैराक, सरकार से की ये मांग

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक शिक्षक ने बिना किसी संसाधन के बच्चों को तैराकी में निपुण बना दिया है
मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक शिक्षक ने बिना किसी संसाधन के बच्चों को तैराकी में निपुण बना दिया है

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक शिक्षक ने बिना किसी संसाधन के बच्चों को तैराकी में निपुण बना दिया है

  • Share this:
मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक शिक्षक ने बिना किसी संसाधन के बच्चों को तैराकी में निपुण बना दिया है. दरअसल, दमोह जिले के तेजगढ़ कस्बे के एक सरकारी स्कूल के बच्चे, जो ना सिर्फ गरीब हैं बल्कि दलित और आदिवासी वर्ग के हैं. ये बच्चे तेजगढ़ के सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं और देश के लिए खेलने की हसरत लिए पिछले दो साल से कड़ी मेहनत भी कर रहे हैं.

इन बच्चों के मिशन को यहाँ के एक शिक्षक शोएब गौरी पठान ने अंजाम तक पहुंचाने का संकल्प लिया है. शोएब की हसरत है कि ग्रामीण परिवेश में रहने वाले गरीब बच्चे अपने टैलेंट के जरिए देश का नाम रोशन करें और इसके लिए वो लगातार मेहनत कर रहे हैं. हर रोज बच्चों को स्वीमिंग की ट्रेनिंग देते हैं और अपने पास से साधारण संसाधन भी मुहैया कराते हैं और इसका नतीजा है कि इनमे से बीस बच्चों ने सागर डिवीजन की तैराकी प्रतियोगता में हिस्सा लिया और उनमें से अठारह बच्चों का सिलेक्शन स्टेट लेवल के स्वीमिंग कॉम्पटीशन में हुआ है और अब बच्चे स्टेट लेवल पर अपने हुनर दिखाएंगे.

अपने जूनून भरे संकल्प को लेकर इन गरीब बच्चों के साथ दिन रात मेहनत कर रहे टीचर शोएब को ख़ुशी है की उनके सिखाए हुए बच्चे लगातार आगे बढ़ रहे हैं और वो आगे भी मेहनत करेंगे, लेकिन उनकी भी सरकार से मांग है कि इन बच्चों के लिए संसाधन उपलब्ध कराएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज