अपना शहर चुनें

States

...और पूरी रात मौत से जंग लड़ता रहा रुक्खन, आखिरकार हुई जीत

रुक्खन को अस्पताल ले जाते लोग 

फोटो- ईटीवी
रुक्खन को अस्पताल ले जाते लोग फोटो- ईटीवी

मध्य प्रदेश के दमोह में एक जिंदगी पूरी रात मौत से जंग लड़ती रही और आखिरकार वह जीत गई. दमोह सागर स्टेट हाइवे पर बांसा के पास कुमेरिया गांव में बारिश के बीच आठ घंटे तक दर्द से कराहते युवक रुक्खन के साथ ऐसा हुआ .

  • Share this:
मध्य प्रदेश के दमोह में एक जिंदगी पूरी रात मौत से जंग लड़ती रही और आखिरकार वह जीत गई.
दमोह सागर स्टेट हाइवे पर बांसा के पास कुमेरिया गांव में बारिश के बीच आठ घंटे तक दर्द से कराहते युवक रुक्खन के साथ ऐसा हुआ .

स्टेट हाइवे पर गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात एक बजे एक डंपर गिट्टी लेकर दमोह आ रहा था. इस जगह एक ट्रक से उसकी भिड़ंत हो गई. डंफर एक खेत में जा गिरा.

तेज बारिश के बीच ट्रक में सवार दो लोगों मे से अन्नू  तो सुरक्षित निकल आया लेकिन ट्रक ड्राइवर रुक्खन बुरी तरह से फंस गया. अन्नू ने अपने मालिक को खबर की.
रुक्खन को बहार निकाल पाना मुश्किल था. ट्रक बुरी तरह से क्षतिग्रस्त था. रुक्खन का एक पैर सीट के नीचे इस कदर फंसा था कि उसे निकालने के लिए पूरी रात मशक्कत करनी पड़ी.



रात दो बजे से शुरू हुई कोशिश आखिरकार सुबह 8.30 बजे रंग लाई. इस बीच बरसते पानी और कीचड़ में पुलिस और रेस्क्यू टीम के साथ गांव के लोगों ने लगातार मेहनत की.

रुक्खन दर्द से चीखता-चिल्लाता और जिंदगी बचाने की गुहार लगाता. दर्द से तड़पते रुक्खन का दर्द कम करने के लिए मौके पर ही 108 एम्बुलेंस और डॉक्टर की टीम भी तैनात की गई जो फंसे हुए रुक्खन को दर्द के इंजेक्शन और दवाइयां भी देती रही.

रुक्खन को एम्बुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया है.  उसकी हालत ज़रा बिगड़ी है. वहीं उसके पैरों के चलने या ना चलने के बारे में भी अभी कहा नहीं जा सकता.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज