अपना शहर चुनें

States

दलितों ने गांव में हुक्का पानी बंद होने पर दमोह मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

दमोह मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए दलित समुदाय के लोग
दमोह मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए दलित समुदाय के लोग

दमोह में गांव के दबंगों द्वारा दलितों का हुक्का पानी बंद किए जाने का मामला सामने आया है. दलित समुदाय के पीड़ित लोग दमोह पहुंचे. सभी ने अपनी पीड़ा एडीएम व पुलिस अधीक्षक के सामने रखी.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के दमोह में गांव के दबंगों द्वारा दलितों का हुक्का पानी बंद किए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. गांव में रह रहे दलित समुदाय के पीड़ित लोग दमोह पहुंचे. सभी ने अपनी पीड़ा एडीएम व पुलिस अधीक्षक के सामने रखी.

दमोह कलेक्ट्रेट पहुंचकर गांव के दलितों ने अपनी पीड़ा से एडीएम को अवगत कराया. एडीएम ने तत्काल मामले में संज्ञान लेकर जांच करते हुए कार्रवाई करने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया. एडीएम ने साथ ही इस प्रकार की छुआछूत एवं भेदभाव की निंदा की.

दमोह जिले के नोहटा थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम माला बम्हौरी गांव से आए दलित समुदाय के लोगों का आरोप है कि गांव में कुछ समय पहले यज्ञ का आयोजन किया गया था. इस दौरान उनसे काम तो भरपूर लिया गया लेकिन भोजन के खिलाने के समय भेदभाव बरता गया. उन्हें यह अपना अपमान लगा और इसके चलते उन लोगों ने खाना नहीं खाया.



छुआछूत के कारण उन लोगों ने जब समारोह में हिस्सा नहीं लिया तो यज्ञ के समाप्त हो जाने के बाद गांव में मीटिंग करने के बाद ऊँची जाति के लोगों ने दलितों की चार जातियों का हुक्का पानी बंद कर दिया.इन लोगों को दुकानों से सामान आदि देना बंद कर दिया तो इन लोगों ने दमोह में दलित समाज के नेताओं से चर्चा की और फिर दमोह जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज