• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Damoh : प्रेम प्रसंग में मारे गए शख्स की लाश महीने भर बाद बरामद, दूसरा अब भी लापता

Damoh : प्रेम प्रसंग में मारे गए शख्स की लाश महीने भर बाद बरामद, दूसरा अब भी लापता

बमन नदी से गोविंद की लाश बरामद हुई.

बमन नदी से गोविंद की लाश बरामद हुई.

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने हत्या करने के बाद शव को बमन नदी में फेंक दिया था. फिलहाल गोविंद पटेल का ही शव बरामद हो सका है. पुलिस नरेश पाल की तलाश में जुटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
दमोह. दमोह (Damoh) जिले के तारादेही थाना क्षेत्र में प्रेम प्रसंग के चलते दोहरे हत्याकांड की खबर सामने आ रही है. 8 अगस्त को जबेरा थाना के तांवरा गांव के रहनेवाले गोविंद पटेल तेंदूखेड़ा थाना क्षेत्र के बम्होरी के रहनेवाले अपने दोस्त नरेश पाल के साथ जिले के सनई गांव गए थे. वहां आरोपी मोहन गौड़ ने अपने साथियों के साथ इन दोनों को घेर लिया और लाठी-डंडों से पीट-पीटकर गोविंद पटेल की हत्या (Murder) कर दी. गोविंद के बचाव में आए उनके दोस्त नरेश पाल को भी आरोपियों ने मार डाला.

परिजनों ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

इस बीच, घर से लापता होने पर गोविंद पटेल के परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट (FIR) पुलिस थाने में दर्ज कराई. तब पुलिस ने जांच-पड़ताल की और संदेह के आधार पर सनई गांव के रहने वाले आरोपी (Accused) मोहन गौड़ और नारायण गौड़ को हिरासत में लिया. जब पुलिस ने इनसे सख्ती से पूछताछ की तो दोनों ही आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल करते हुए इस अंधे हत्याकांड से पर्दा उठाया. पुलिस ने 12 सितंबर को आरोपियों की निशानदेही पर बमन देबी नदी से मृतक की बाइक बरामद की, पर दोनों गुमशुदा लोगों का सुराग नहीं मिला. तब जबेरा थाना, तेंदूखेड़ा थाना और तारादेही थाने की पुलिस ने दोबारा आरोपियों से पूछताछ की और उन्हें लेकर घटनास्थल पर पहुंची. इस बार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने हत्या करने के बाद शव को बमन नदी में फेंक दिया था. फिलहाल गोविंद पटेल का ही शव बरामद हो सका है. पुलिस नरेश पाल की तलाश में जुटी है.

हत्या के आरोप में छह से ज्यादा लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया.
हत्या के आरोप में छह से ज्यादा लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया.


छह से ज्यादा लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

दोहरे हत्याकांड का यह मामला तीन अलग-अलग थाना क्षेत्रों से जुड़ा है. पुलिस के मुताबिक, जबेरा थाना के तांवरा गांव के रहनेवाले गोविंद पटेल का जिस लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था, उसकी शादी तारादेही थाना के सनई गांव के रहनेवाले आरोपी मोहन गौड़ से तय हुआ था. इस प्रेम प्रसंग के बारे में पता चलने के बाद मोहन गौड़ को गोविंद पटेल के बीच में विवाद शुरू हो गया था. इसी विवाद की वजह से गोविंद पटेल अपने दोस्त नरेश पाल के साथ सनई गांव गया था. जहां पर मोहन ने छह से अधिक लोगों के साथ मिलकर गोविंद पटेल की हत्या लाठी-डंडों से पीट-पीटकर कर दी. गोविंद के बचाव में उतरे उसके दोस्त नरेश पाल को भी आरोपियों ने मौत के घाट उतार दिया. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने सनई गांव की बमन देवी नदी में दोनों मृतकों के शवों को बाइक सहित फेंक दिया. इस वारदात के खुलासे के बाद तीनों थानों की पुलिस आरोपियों की निशानदेही पर कल 12 सितंबर को बमन नदी पहुंच कर मृतकों की लापता बाइक ढूंढ़ निकाली. आज दोबारा आरोपियों की निशानदेही पर नदी से मृतक गोविंद पटेल का शव बरामद कर लिया गया, वहीं नरेश पाल की तलाश जारी है.

नदी से मिली बाइक और लाश

पूरे घटनाक्रम के बारे में दमोह के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार सिंह का कहना है कि करीब 1 महीने पहले गोविंद और नरेश अपने घर से बाइक से निकले थे और जब वह घर नहीं लौटे तो उनके परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसके बाद जांच में पाया गया कि आरोपियों ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या करने के बाद उनके शवों को बाइक सहित नदी में फेंक दिया. बाइक कल 12 सितंबर को बरामद कर ली गई थी और आज गोविंद पटेल का शव नदी से बरामद कर लिया गया है. नरेश पाल की तलाश जारी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज