देवेन्द्र चौरसिया हत्याकांड : रामबाई ने की CBI जांच की मांग, बोलीं-पति दोषी हुआ तो फांसी पर लटका दूंगी

रामबाई पथरिया से विधायक हैं.

रामबाई पथरिया से विधायक हैं.

Damoh : सुप्रीम कोर्ट (SC) की फटकार के बाद पुलिस ने गोविंद सिंह की गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. जिले भर में फरार आरोपी के पोस्टर चस्पा किये गए

  • Share this:
दमोह. दमोह (Damoh) जिले के बहुचर्चित कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड मामले में पथरिया से बीएसपी विधायक (BSP MLA) रामबाई ने नया पैंतरा चला है. उन्होंने इस मामले की सीबीआई (CBI) जांच की मांग की है. साथ ही कहा अगर मेरे पति या परिवार के लोग इसमें दोषी होंगे तो मैं खुद उन्हें फांसी पर लटका दूंगी.

कांग्रेस नेता देवेन्द्र चौरसिया हत्याकांड में बीएसपी विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह परिहार सहित परिवार के कुछ अन्य लोग आरोपी हैं. इस केस में गोविंद सिंह पुलिस रिकॉर्ड में दो साल से फरार हैं. गिरफ्तारी न होने पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद एमपी पुलिस हरकत में आयी है और दबिश दे रही है.

सीबीआई जांच की मांग

रामबाई का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसमें वो देवेन्द्र चौरसिया हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग कर रही हैं. वो कह रही हैं कि उनके पति गोविंद सिंह देवर चंदू उर्फ कौशलेंद्र सिंह या कोई भी इस केस में दोषी पाया जाता है तो उनको फांसी पर लटका दीजिए या फिर आपको जरूरत नहीं पड़ेगी मैं स्वयं उन्हें फांसी पर लटका दूंगी
Youtube Video

पति से सरेंडर करने की अपील

इससे ठीक एक दिन पहले बीएसपी विधायक रामबाई ने अपने पति गोविंद सिंह से सरेंडर करने की अपील की थी. रामबाई ने मीडिया के जरिए कहा था- कोर्ट में जमानत के लिए हमने याचिका लगाई है. अगर उनके पति गोविंद सिंह सरेंडर नहीं करते हैं तो याचिका खारिज हो सकती है. रामबाई ने अपने पति से अपील की थी कि वो जहां भी हैं, न्यायालय या पुलिस के सामने आकर सरेंडर कर दें. उन्होंने यह भी कहा था कि मैं किसी के दबाव में ये बातें नहीं कर रही हूं.

रामबाई के ठिकानों पर दबिश



गोविंद सिंह की गिरफ्तारी के लिए रामबाई के ठिकानों पर पुलिस ने दबिश दी थी. उसके बाद ही राम बाई की अपील और ये वीडियो सामने आया है.15 मार्च 2019 को हटा के कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या कर दी गयी थी. हत्या का आरोप रामबाई के पति गोविंद सिंह परिहार और उनके परिवार के अन्य सदस्यों पर लगा. लेकिन वो दो साल से फरार है. पुलिस अभी तक उसे गिरफ्तार नहीं कर पायी है. सुप्रीम कोर्ट ने इस पर संज्ञान में लेते हुए मध्य प्रदेश पुलिस और प्रदेश सरकार को फटकार लगाते हुए प्रदेश में कानून व्यवस्था की बिगड़ी स्थिति पर तल्ख टिप्पणी की थी.

गिरफ्तारी पर 50 हजार का इनाम

सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने गोविंद सिंह की गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. जिले भर में फरार आरोपी के पोस्टर चस्पा किये गए. उसकी सूचना देने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा साथ ही उसकी जानकारी गुप्त रखी जाएगी. बावजूद इसके गोविंद सिंह का सुराग पुलिस नहीं लगा पायी है. पथरिया में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. साथ ही विधायक के यहां काम करने वाले लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज