अपना शहर चुनें

States

दमोह के किसान सम्मेलन में नहीं आए किसान, खाली रहीं कुर्सियां

दमोह में भाजपा किसान सम्मेलन में खाली पड़ी कुर्सियां
दमोह में भाजपा किसान सम्मेलन में खाली पड़ी कुर्सियां

प्रदेश की शिवराज सरकार के द्वारा चुनावी साल में किसानों को आकर्षित करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जा रही है. यही कारण है कि प्रदेश में लगातार किसानों के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. लेकिन दमोह जिले में किसानों के लिए आयोजित कार्यक्रम में किसानों ने कोई रूचि नहीं दिखाई.

  • Share this:
प्रदेश की शिवराज सरकार के द्वारा चुनावी साल में किसानों को आकर्षित करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जा रही है. यही कारण है कि प्रदेश में लगातार किसानों के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. लेकिन दमोह जिले में किसानों के लिए आयोजित कार्यक्रम में किसानों ने कोई रूचि नहीं दिखाई. दमोह के जिला कलक्ट्रेट में कार्यक्रम करके मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना अंतर्गत कृषक प्रोत्साहन राशि के पत्रों का वितरण किया गया.

मुख्यमंत्री ने इस योजना के तहत एक साथ प्रदेश के सभी किसानों के खातों में राशि को ट्रांसफर किया. दमोह के कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री जयंत मलैया शामिल हुए. इसके बाद भी आयोजन स्थल पर करीब डेढ़ हजार किसानों के लिए लगाई गई कुर्सियों में काफी कुर्सियां खाली नजर आईं. किसानों ने न तो आयोजन में आना ही जरूरी समझा और न ही मुख्यमंत्री शिवराज के वीडियो कांफ्रेस से भाषण को सुनने में कोई रूचि दिखाई. खाली कुर्सियों के मसले पर राजनेता एवं अधिकारी कुछ भी कहने से बचते नजर आए.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज