अपना शहर चुनें

States

मोदी के स्वच्छता अभियान से मिली प्रेरणा, संवार दी छह बच्चों की जिंदगी

दमोह जिले की न्यू पुलिस लाईन के प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल में पढ़ने के लिए आने वाले छ बच्चों को संवारने का काम यहां की हेड मास्टर रानी श्रीवास्तव ने कर रही हैं
दमोह जिले की न्यू पुलिस लाईन के प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल में पढ़ने के लिए आने वाले छ बच्चों को संवारने का काम यहां की हेड मास्टर रानी श्रीवास्तव ने कर रही हैं

दमोह जिले की न्यू पुलिस लाईन के प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल में पढ़ने के लिए आने वाले छ बच्चों को संवारने का काम यहां की हेड मास्टर रानी श्रीवास्तव ने कर रही हैं

  • Share this:
मध्य प्रदेश के दमोह जिले की एक हेड मास्टरनी आजकल स्वच्छ भारत अभियान को लेकर चर्चा में हैं. वे छह बच्चों को रोजाना नहला-धुलाकर अच्छे तरीके से स्कूल भेजती हैं.

दरअसल, दमोह जिले की न्यू पुलिस लाईन के प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल में पढ़ने के लिए आने वाले छ बच्चों को संवारने का काम यहां की हेड मास्टर रानी श्रीवास्तव ने कर रही हैं. रानी श्रीवास्तव ने अपने यहां पर पढ़ने के लिए आने वाले छ बच्चों के बेतरतीब तरीके से स्कूल आने पर पहले तो उनके परिजनों को समझाईस दी, लेकिन परिजनों के नहीं सुनने के बाद रानी श्रीवास्तव ने स्वयं ही बच्चों के बाल संवारकर उनको नहलाया, फिर उनको तैयार किया. उसके बाद अब यह बच्चे घर से ही तैयार होकर आने लगे हैं.

हेड मास्टर के स्वच्छता अभियान से लाभान्वित होने वाली बालिका का कहना है कि उसके बाल बहुत बड़े थे, उसके माता-पिता मजदूरी करने जाते हैं, जिससे वे उनका ख्याल नहीं रख पाते थे. ऐसे में उनकी मैडम ने यह काम किया है. तैयार होने के बाद अब उनको अच्छा लग रहा है.



अपने विभाग की शिक्षिका एवं एचएम के द्वारा यह सराहनीय कार्य किए जाने के बाद अब विभाग के मुखिया यानी जिला शिक्षा अधिकारी भी उनकी तारीफ कर रहे हैं. साथ ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान की प्रशंसा करते हुए उनके द्वारा विभाग के लोगों को प्रेरित करने की बात भी की.
प्रचार प्रसार से दूर इस शिक्षक द्वारा अपने स्कूल में आने वाले गरीब बच्चों का ख्याल रखकर अपने हाथों से सवांरने का काम करने से आसपास के लोग तारीफ कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि इस मामले से प्रेरणा लेकर कार्य करने की जरूरत है जिससे समाज के अन्य लोग भी इससे प्रभावित हो सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज