दमोह उपचुनाव से पहले शिवराज ने कार्यकर्ताओं से कहा- तु्म्हीं हो जनार्दन...

दमोह विधानसभा सीट उपचुनाव के लिए 17 अप्रैल को मतदान है.

दमोह विधानसभा सीट उपचुनाव के लिए 17 अप्रैल को मतदान है.

Damoh. CM शिवराज ने कहा भारतीय जनता पार्टी नेताओं की पार्टी नहीं है. कार्यकर्ताओं की पार्टी है. यहां कार्यकर्ता ही नेता बनता है.

  • Share this:
दमोह. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (CM Shivraj) आज लगातार दूसरे दिन फिर से दमोह के दौरे पर रहे. वो यहां बूथ कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में शामिल हुए. उन्होंने पार्टी प्रत्याशियों को भारी मतों के साथ ऐतिहासिक जीत दिलाने का संकल्प दिलाया.

बूथ कार्यकर्ता की पार्टी को जिताने में क्या भूमिका रहती है इस बारे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने थे तो उन्होंने सबसे पहले कार्यकर्ताओं को प्रणाम किया था. पीएम मोदी ने कहा था अगर मैं इतने प्रचंड बहुमत से जीता हूं वह बीजेपी कार्यकर्ता की वजह से हुआ है.

कार्यकर्ता ही जनार्दन

सीएम शिवराज ने कहा जनसंघ के जमाने से लड़ रहे थे कि कश्मीर से धारा 370 हटाई जाए. एक देश में दो निशान दो विधान दो प्रधान नहीं होने चाहिए. लोग कहते थे ना तो 370 धारा हट सकती है और ना ही राम मंदिर बन सकता है. कांग्रेस हमेशा ही भाजपा पर तंज कसती रहती थी. रामलला आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे तारीख नहीं बताएंगे. लेकिन मोदी जी ने धारा 370 हटा दी और मंदिर का शिलान्यास भी कर दिया. अगर यह सब केवल पार्टी कार्यकर्ताओं की वजह से संभव हो सका. तीन तलाक का कानून बना तो वह आपकी वजह से बना. मध्यप्रदेश में हमने प्रगति और विकास की लकीर खींची तो कार्यकर्ता भाई बहनों आप की वजह से खींच सके.
बीजेपी नेता नहीं कार्यकर्ताओं की पार्टी

CM शिवराज ने कहा-कोरोना संकट से निपटने के लिए आज हमने तय किया कि इमारतों को ही अस्पताल बना देंगे. जनता को बिना इलाज के नहीं रहने देंगे. भारतीय जनता पार्टी नेताओं की पार्टी नहीं है. कार्यकर्ताओं की पार्टी है. यहां कार्यकर्ता ही नेता बनता है. अटल जी, पीएम मोदी किसी नेता के घर पैदा नहीं हुए, काम करते-करते भारत के प्रधानमंत्री बन गए, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा मुरैना एक के एक छोटे से गांव में ब्राह्मण के घर पैदा हुए, और काम करते-करते प्रदेश के अध्यक्ष बन गए.





पहले और अब

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर कांग्रेस के शासन का जिक्र करते हुए बताया कि जो कार्यकर्ता 2003 से पहले पार्टी से जुड़े हैं, उन्होंने मध्यप्रदेश में अंधेरा भी देखा होगा मध्यप्रदेश में खड्डो वाली सड़कें भी देखी होंगी, मध्य प्रदेश की दुरावस्था और मध्य प्रदेश का पिछड़ापन भी देखा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज