भाभी के तानों से तंग आकर ननद ने दे दी हत्या की सुपारी और फिर....

अनिता अवस्थी नरसिंहगढ़ में शासकीय स्कूल में टीचर है. लेकिन करीब 12 साल पहले पति से अलग होकर मायके में रह रही थी.यहां भाभी उसे प्रताड़ित करती थी.

Ashish Jain | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 23, 2019, 10:54 AM IST
भाभी के तानों से तंग आकर ननद ने दे दी हत्या की सुपारी और फिर....
आरोपी ननद अपनी भाभी की तीमारदारी करते हुए
Ashish Jain
Ashish Jain | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 23, 2019, 10:54 AM IST
नरसिंहगढ़ ज़िले के चौकी इलाके में एक ननद ने अपनी भाभी की हत्या करवा दी. भाभी ताने देती थी और तरह तरह से प्रताड़ित करती थी. इससे गुस्साई ननद ने पड़ोसी के साथ मिलकर हत्या के लिए 5 लाख की सुपारी दे दी. गोली लगने के बाद किसी को शक ना हो इसलिए ननद भाभी की तीमारदारी करती रही..लेकिन भाभी की मौत हो गयी.

चेन लूटने के बहाने मारी गोली

नरसिंहगढ़ के चौकी थाना क्षेत्र में 18 जून को आरती तिवारी नाम की 45 साल की महिला को दिन दहाड़े गोली मार दी गयी थी. पहली नज़र में मामला लूट के लिए हत्या का लगा था. आरती अपने घर के नज़दीक कहीं जा रही थीं उसी दौरान बस स्टैंड के पास एक युवक उनकी ओर लपका और चेन झपटी. आरती ने विरोध किया तो उसने कट्टे से गोली मार दी. आरोपी मौके से फरार हो गया और आरती को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालत गंभीर होने पर उसे जबलपुर रैफर किया गया लेकिन रास्ते में ही आरती की मौत हो गयी.



ऐसे हुआ ख़ुलासा
उधऱ पुलिस ने अपनी जांच तेज़ की और जल्द ही परत दर परत साज़िश और हत्या का खुलासा हो गया.जैसे ही आरोपी फरार हुआ स्थानीय लोगों की मदद से उसे 30 मिनिट के भीतर ही पकड़ लिया गया. आरोपी निगम सिंह धाकड़ था और वो रायसेन ज़िले का रहने वाला था. पुलिस ने पूछताछ शुरू की. लेकिन मामला संजीदा होने के कारण पुलिस ने काफी एतहितायत बरता. सवाल ये था कि रायसेन में रहने वाला आरोपी चेन लूटने नरसिंहगढ़ क्यों आएगा. निगम सिंह धाकड़ पहले तो लगातार पागल होने का ड्रामा करता रहा. लेकिन 32 दिन बाद उसका ड्रामा ख़त्म हुआ.


Loading...

पड़ोसी के साथ रची साज़िश
पूछताछ में पता चला कि आरती की उसकी ननद अनिता अवस्थी ने ही सुपारी देकर हत्या करायी है. अनिता अवस्थी नरसिंहगढ़ में शासकीय स्कूल में टीचर है. लेकिन करीब 12 साल पहले कैमोर जिला कटनी से  पति से अलग होकर  मायके में रह रही थी. यहां भाभी आरती उसे परेशान करती थी. लगातार प्रताड़ना और ताने से तंग आकर अनिता ने अपने पड़ोसी मोनू पाराशर के साथ मिलकर आरती की हत्या की साज़िश रची. अनिता के कहने पर मोनू ने रायसेन निवासी रवि परमार को 5 लाख रुपए में आरती की हत्या की सुपारी दी. रवि ने निगम सिंह धाकड़ को नरसिंहगढ़ भेजा. यहां मोनू पाराशर, निगम सिंह धाकड़ और अनिता ने 17 जून को मिलकर चेन लूटने के बहाने हत्या की साज़िश रची. 18 जून को रेकी करने के बाद दिनदहाड़े आरती की प्लान के तहत गोली मारकर हत्या कर दी गयी.
पड़ोसी मोनू पाराशर और रायसेन निवासी रवि परमार अभी फरार हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

ये भी पढ़ें-भ्रष्टाचार की जांच में घिर गए MP के जेल महानिदेशक संजय चौधरी

मिशन चंद्रयान-2 पर रतलाम के इस परिवार की भी टिकी थीं निगाहें

मिशन चंद्रयान-2: MP का कैमोर शहर चर्चा में क्यों है?

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दमोह से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 10:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...