अपना शहर चुनें

States

पुलिस ने किया कुछ ऐसा कि शराबी खुद दे रहे शराब ना पीने का सन्देश

नशे में धुत शराब के प्रेमियों ने भी लोगों को बताया कि ये बुराई है. उन्होंने कहा कि अब शराब को हाथ नहीं लगाएंगे.
नशे में धुत शराब के प्रेमियों ने भी लोगों को बताया कि ये बुराई है. उन्होंने कहा कि अब शराब को हाथ नहीं लगाएंगे.

नशे में धुत शराब के प्रेमियों ने भी लोगों को बताया कि ये बुराई है. उन्होंने कहा कि अब शराब को हाथ नहीं लगाएंगे.

  • Share this:
मध्य प्रदेश की दमोह पुलिस ने सड़क पर घूमने वाले शराबियों को सबक सिखाने की नई तरकीब निकाल ली है.  शराबी अगर सड़कों पर मदहोशी में दिखाई दिए तो वे पुलिस की गिरफ्त में आ जाएंगे और इतना ही नहीं पुलिस उनका जुलूस भी निकाल सकती है.

दमोह में कुछ ऐसा ही हुआ जब एक साथ शराबियों की टोली सड़कों पर कान पकड़ कर ये कहती रही कि अब मदहोश होकर सड़क पर नजर नहीं आएंगे.

पुलिस ने ना सिर्फ इन मदहोशों को पकड़ा, बल्कि इसे सामाजिक बुराई का सन्देश देते हुए बाकायदा शराबियों को लाइन में लगाकर शहर में पैदल भी घुमाया और लोगों को सचेत किया कि शहर की सड़के आम लोगों के चलने के लिए है ना कि मदहोशी में चूर लोगों को उत्पात मचाने के लिए.



दरअसल पुलिस ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि पिछले लम्बे समय से शराबी पूरे शहर में उत्पात मचा रहे थे और आए दिन झगड़े फसाद सामने आते थे. इसके अलावा सड़क हादसों के पीछे की वजह भी कई बार शराब सामने आई.
नशे में धुत इन शराब के प्रेमियों ने भी लोगों को बताया कि ये बुराई है. उन्होंने कहा कि अब शराब को हाथ नहीं लगाएंगे.

पुलिस की यह कार्यवाही चर्चा का विषय है. क्योंकि दमोह में सबसे पहले शराब की दुकानों पर शराब से होने वाले नुकसान और खतरों को पोस्टरों के जरिए बताया जा रहा है और नशा मुक्ति के लिए जनजागरण अभियान चलाये जा रहे हैं. प्रदेश के आबकारी मंत्री जयंत मलैया इसी शहर के विधायक हैं.

दमोह पुलिस की इस कार्यवाही को जिम्मेदार नेताओं की सराहना तो मिली लेकिंन प्रदेश में सत्तासीन पार्टी भाजपा के कद्द्वार नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री होने के साथ दमोह से भाजपा सांसद प्रह्लाद पटेल ने इन हालातों के लिए सरकार को भी कटघरे में खड़ा किया है.

सांसद पटेल की माने तो सरकार शराब दुकाने भी खोल रही है और जागरूकता अभियान भी चलाती है ऐसे में नीति में सुधार की जरुरत है.

बहरहाल, शराबियों को लेकर जिसने भी ये सब देखा उसके होश जरूर उड़े और लोगों को नसीहत भी मिली की मदहोशी में सड़कों पर दिखना अब खतरे से खाली नहीं है. ऐसे में पुलिस की ये कोशिश कितनी रंग लाएगी ये देखना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज