अपना शहर चुनें

States

रक्षा बंधन: दुकानदार भी दे रहे बहनों का साथ, दिखा रहे चीन को ठेंगा

दमोह में महिला संगठनों द्वारा चाइनीज राखियों के विरोध प्रदर्शन के बाद अब दुकानदार भी इन राखियों को बेचने से कतरा रहे हैं.  मेड इन चाइना की राखियां न तो दुकानदार बेंच रहे हैं और न ही इन्हें अब कोई खरीदने वाला है.
दमोह में महिला संगठनों द्वारा चाइनीज राखियों के विरोध प्रदर्शन के बाद अब दुकानदार भी इन राखियों को बेचने से कतरा रहे हैं. मेड इन चाइना की राखियां न तो दुकानदार बेंच रहे हैं और न ही इन्हें अब कोई खरीदने वाला है.

दमोह में महिला संगठनों द्वारा चाइनीज राखियों के विरोध प्रदर्शन के बाद अब दुकानदार भी इन राखियों को बेचने से कतरा रहे हैं. मेड इन चाइना की राखियां न तो दुकानदार बेंच रहे हैं और न ही इन्हें अब कोई खरीदने वाला है.

  • Share this:
दमोह में महिला संगठनों द्वारा चाइनीज राखियों के विरोध प्रदर्शन के बाद अब दुकानदार भी इन राखियों को बेचने से कतरा रहे हैं.  मेड इन चाइना की राखियां न तो दुकानदार बेंच रहे हैं और न ही इन्हें अब कोई खरीदने वाला है.

दुकानदार स्वदेशी अपनाएं देश बचाएं के बैनर तले भारतीय राखियां ही बेच रहें हैं, और लोग भारत में निर्मित हुई राखियों को ही खरीद रहें हैं.

रक्षा बंधन: इस बार चीन को ठेंगा दिखा रहीं हैं ग्वालियर की ये महिलाएं




खरीददारी कर रही महिलाओं का कहना है कि वह अपने भाइयों की कलाई पर सिर्फ भारत में बनाई गई राखियां ही बांधेंगी, चाइना की नहीं.

VIDEO: मुस्लिम परिवार की महिलाएं बनाती हैं खूबसूरत राखियां

रक्षा बंधन के इस त्यौहार पर दमोह में देश भक्ति और स्वदेशी का जो जज्बा देखने मिला वह पहले किसी भी त्यौहार में देखने नहीं मिला और यदि यह अलख आगे भी एक आंदोलन के रूप में जारी रहा तो वह दिन दूर नहीं जब प्रत्येक भारतीय त्यौहार स्वदेशी और देशभक्ति के साथ मनाया जाने लगेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज