अपना शहर चुनें

States

होली में रंग की जगह बहा खून, बुजुर्ग महिला की हालत नाजुक

बुजुर्ग दलित महिला सदारानी अहीरवाल के बेटों का जमीनी विवाद गांव के ही कुछ लोगों से चल रहा है.
बुजुर्ग दलित महिला सदारानी अहीरवाल के बेटों का जमीनी विवाद गांव के ही कुछ लोगों से चल रहा है.

जमीनी विवाद के तहत बुजुर्ग महिला को लोगों ने अपना निशाना बनाया और बेरहमी से महिला को चोटें पहुंचाई

  • Share this:
देश भर में जहां होली को लेकर उत्साह उमंग दिखाई दे रही है वहीं होली पर दमोह से एक दिल दहला देने वाली खबर है जब कुछ लोगों ने एक बुजुर्ग महिला को मौत के मुंह में धकेलने की कोशिश की लेकिन फिलहाल बुजुर्ग महिला जिंदगी की जंग लड़ रही है.

मामला दमोह जिले के देहात थाना के सीतानगर गावं का है जहां पूरा गावं होलिका दहन में मस्त था और अचानक एक घर से चीखने की आवाजें आने लगी और जब लोगों ने देखा तो एक बुजुर्ग महिला लहूलुहान जमीन पर पड़ी थी.

दरअसल बुजुर्ग दलित महिला सदारानी अहीरवाल के बेटों का जमीनी विवाद गांव के ही कुछ लोगों से चल रहा है. गुरुवार दोपहर दोनों पक्षों में कहासुनी हुई और मामला शांत हो गया लेकिन दूसरा पक्ष बेहद नाराज था और रात में जैसे ही गांव के लोग होलिका दहन में व्यस्त थे. इस बात का फायदा उठाकर पांच छह लोगों ने सदारानी के घर पर हमला बोल दिया. बुजुर्ग महिला के बेटे तो अंदर मकान में छिपे रहे लेकिन घर से बाहर निकली बुजुर्ग सदारानी को लोगों ने अपना निशाना बनाया और बेरहमी से बुजुर्ग महिला को चोटें पहुंचाई.



जब तक लोग मौके पर पहुँचते हमालवर भाग खड़े हुए और लोगों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची डायल हंड्रेड की टीम ने घायल महिला को जिला अस्पताल भेजा जहाँ महिला जिंदगी की जंग लड़ रही है. वहीँ डाक्टर का कहना है की महिला को गंभीर चोटें आई है जिस वजह से उसकी हालात नाजुक बनी हुई है.
देहात थाना पुलिस ने भी घायल महिला के बयान लेने की कोशिश की लेकिन बुजुर्ग महिला बयान देने की स्थिति में नहीं है लिहाजा पुलिस महिला के होश में आने का इंतज़ार कर रही है. दूसरी तरफ सीतानगर में पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि विवाद और ना बढ़ पाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज