अपना शहर चुनें

States

एमपीः स्कूल में बच्चों से साफ कराए टॉयलेट, मिड-डे की प्लेट में फिंकवाया मैला

Photo-ANI
Photo-ANI

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में मासूम बच्चों से स्कूल में अमानवीय व्यवहार करने का मामला सामने आया है. आरोप है कि स्कूल में बच्चों से टॉयलेट साफ कराए जा रहे हैं और उन्हें मैला फेंकने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के दमोह जिले में मासूम बच्चों से स्कूल में अमानवीय व्यवहार करने का मामला सामने आया है. आरोप है कि स्कूल में बच्चों से टॉयलेट साफ कराए जा रहे हैं और उन्हें मैला फेंकने के लिए मजबूर किया जा रहा है. मामला सामने आने के बाद परिजनों ने स्कूल पहुंचकर जमकर हंगामा किया.

मामला दमोह जिले के हटा ब्लॉक के डोली गांव के सरकारी प्रायमरी स्कूल का है. इस स्कूल में गांव के लोग अपने मासूम बच्चों को पढने-लिखने के लिए भेजते है ताकि उनका भविष्य बेहतर बन सके, लेकिन यहां जो हो रहा है वो आपको हैरान कर देगा.

बच्चों से पढ़ाई कराने के बजाए उनसे मैला फिकवाया और शौचालय साफ कराया जा रहा है. ये हम नहीं कह रहे बल्कि इस स्कूल में पढने वाले मासूम खुद बयां कर रहे है कि स्कूल के टीचर्स ने उनसे पहले स्कूल कैंपस में झाड़ू लगवाई, शौचालय साफ़ कराया और फिर शौचालय से निकला मैला फेंकने के लिए मजबूर किया. वो भी उन थालियों से जिनमें इस स्कूल के बच्चे मध्यान्ह भोजन में मिलने वाला खाना खाते है.



दरअसल डोली के इस सरकारी स्कूल में बुधवार की शाम ये सब हुआ. बच्चों ने अपने घर पहुंचकर माता-पिता से इस सब की शिकायत की. लेकिन जब तक परिजन कोई एक्शन लेते स्कूल बंद करके शिक्षक अपने घर जा चुके थे, गुरुवार को स्कूल में दोपहर बाद आए शिक्षकों के सामने अभिभावकों ने जमकर बबाल किया.
स्कूल पहुंचे बच्चों के माता-पिता के सामने पहले तो शिक्षक ये सब मानने को तैयार नहीं हुए और बच्चों को ही झूठा साबित करते रहे.

हंगामे के बाद साफ़ हो गया कि मासूम बच्चों से मैला साफ़ कराने जैसी घटना इस स्कूल में हुई है तो अब शिक्षक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान की दलील देकर बच्चों मे संस्कार डालने का हवाला दे रहे हैं लेकिन मैला उठवाने जैसी घटना से फिर भी इंकार कर रहे हैं.

हालांकि, दमोह के डीपीसी हेमंत खेरवाल इतना हंगामा होने के बावजूद ऐसी किसी बात को ही सिरे से खारिज कर रहे हैं. अफसरों की माने तो स्कूल में ऐसा कुछ हुआ ही नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज