खदान ढहने से दो बच्चों की मौत, घर की छपाई के लिए गए थे मिट्टी खोदने

ग्राम पंचायत दुलहरा पाठादौ में रहने वाले लोधी परिवार के चार सदस्य गांव से गरीब दो किलोमीटर दूर स्कूल के पास बनी मुरम की खदान से घर की छपाई करने के लिए मुरम लेने गए थे. मुरम की खुदाई के दौरान सभी चार सदस्य खदान ढहने से दब गए.

News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 8:22 AM IST
खदान ढहने से दो बच्चों की मौत, घर की छपाई के लिए गए थे मिट्टी खोदने
खदान ढहने से दो बच्चों की मौत
News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 8:22 AM IST
दमोह जिले के तेंदूखेड़ा थाना इलाके के दुलहरा गांव में मुरम खदान ढहने से दो मासूमों की मौत हो गई. गांव की एक महिला के साथ तीन बच्चे मुरम खोदने के लिए पास की ही एक खदान में गए थे, जहां खदान ढह गई. हादसे में महिला व एक बच्ची को बचा लिया गया, लेकिन दो बच्चों की मुरम में दबने से मौत हो गई. जानकारी से अनुसार दीपावली से पहले कच्चे घरों में छपाई करने के लिए गांव के ही लोधी परिवार के तीन बच्चों के साथ एक महिला गई थी. हादसे के बाद गांव में सन्नाटा पसर गया.

मामले की जानकारी देते हुए तेंदूखेड़ा थाना प्रभारी जेपी ठाकुर ने बताया कि ग्राम पंचायत दुलहरा पाठादौ में रहने वाले लोधी परिवार के चार सदस्य गांव से गरीब दो किलोमीटर दूर स्कूल के पास बनी मुरम की खदान से घर की छपाई करने के लिए मुरम लेने गए थे. मुरम की खुदाई के दौरान सभी चार सदस्य खदान ढहने से दब गए. हादसे में मुरम में दबने से घटना स्थल पर ही दो मासूमों की मौत हो गई. अन्य दो में एक महिला व बच्ची को बचा लिया गया.

पुलिस ने बताया कि चार सदस्यों में बीना बाई और बिन्नी को बचा लिया गया, लेकिन सपना लोधी और नीरज लोधी की घटना स्थल पर ही मौत हो गई. स्थानीय लोगों ने बताया कि सड़क निर्माण कंपनी द्वारा मुख्यमंत्री सड़क योजना से सड़क का निर्माण किया गया था, जिसके बाद 10 दिन पहले ही पुलिस की फिलिंग के लिए मुरम निकाली जानी था. इसके लिए जेसीबी मशीन से अवैध रूप से मुरम की खुदाई की गई थी.

स्थानीय लोगों ने डायल 100 की टीम को सूचना दी, जिसके बाद टीम ने तत्काल मौके पर पहुंच कर दोनों घायलों को तेंदूखेड़ा अस्पताल ले जाकर भर्ती करवाया गया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

यह भी पढ़ें-  सुबह जैसे ही छापे पड़े तो सिर पर पैर रखकर भागे माफिया के गुर्गे

यह भी पढ़ें-  VIDEO: नही है सड़क, मरीज को खाट पर लेटाकर पार किया उफनता नाला
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर