अपना शहर चुनें

States

जिस तालाब में जानवर नहाते हैं, उसी का पानी पीने के लिए मजबूर हैं ग्रामीण

गंदे तालाब का पानी पीने के लिए मजबूर हैं ग्रामीण
गंदे तालाब का पानी पीने के लिए मजबूर हैं ग्रामीण

ग्रामीणों ने बताया कि जिस तालाब में जानवर नहाते हैं, इंसान भी उसी का पानी इस्‍तेमाल करने को मजबूर हैं. दमोह में तकरीबन 100 गांव सूखे की चपेट में हैं और पानी की किल्‍लत से जूझ रहे हैं.

  • Share this:
हर साल सूखे की मार झेलने वाले बुंदेलखंड क्षेत्र में इस बार भी पानी की भारी किल्लत है. इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिस तालाब में मवेशी नहाते हैं, ग्रामीण उसी तालाब के पानी को पीने के लिए मजबूर हैं. यह स्थिति दमोह जिला मुख्यालय से करीब 45 किलोमीटर दूर स्थित दहागांव की है. बटियागढ़ ब्लॉक में पड़ने वाले इस गांव में ज्यादातर गोंड जनजाति के लोग रहते हैं. करीब 800 की आबादी वाले इस गांव में पीने लायक पानी का कोई स्रोत नहीं है. इस गांव में 6 हैंडपंप हैं जो सूख चुके हैं.

गंदे पानी से खाना बनाने को मजबूर
ग्रामीण बबलू गोंड ने बताया कि पानी की तलाश में उसका आधा दिन बीत जाता है.  जानवरों द्वारा जिस तालाब के पानी का उपयोग किया जाता है, उसी जलाशय का पानी हम लोग भी प्रयोग में लाते हैं. बबलू ने बताया कि इलाके में पानी की कमी लंबे समय से है. बबलू ने कहा, 'इस गंदे तालाब के पानी का उपयोग हम पीने और भोजन बनाने के लिए करते हैं.'

दूसरा विकल्‍प नहीं
पानी के पर्याप्त स्त्रोतों की कमी की वजह से ग्रामीणों के लिए इस तरह के गंदे तालाब बहुउद्देश्यीय हो गए हैं. पीने और खाना पकाने के लिए पानी का उपयोग करने के अलावा, गांव के बच्चे उसी तालाब में नहाते भी हैं. महिलाएं कपड़े धोती हैं. वहीं, भटकते हुए जानवर तालाब के पानी से प्यास भी बुझाते हैं. पानी जानवरों के मल से दूषित होता है, लेकिन ग्रामीणों के पास दूसरा विकल्प नहीं है.



सूखे की चपेट में 100 गांव
सूखे की यह स्थिति सिर्फ दहागांव में ही नहीं बल्कि इस पूरे इलाके में है. दमोह के बटियागढ़ ब्लॉक के अलावा तेंदूखेड़ा ब्लॉक में करीब 100 से अधिक गांव पानी की समस्या से जूझ रहे हैं. इस इलाके में लोगों को 2-3 किमी दूर जाकर एक बाल्टी पानी मिल पाता है.

ये भी पढ़ें- जय किसान ऋण माफी योजना : CM कमलनाथ ने कहा-अफवाह फैलाने वालों से सतर्क रहें

गर्मी ने इतना किया परेशान... सूर्य देवता के खिलाफ थाने पहुंच गया ये शख्स

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज