Home /News /madhya-pradesh /

OMG : वाह दादी वाह!! 80 की देवकी सीख रही हैं घुड़सवारी, 78 की शकुंतला चलाती हैं स्कूटी

OMG : वाह दादी वाह!! 80 की देवकी सीख रही हैं घुड़सवारी, 78 की शकुंतला चलाती हैं स्कूटी

Dewas News: वृद्धाश्रम में रहने वाली दो बुजुर्ग महिलाएं हौंसले की उड़ान भर रही हैं.

Dewas News: वृद्धाश्रम में रहने वाली दो बुजुर्ग महिलाएं हौंसले की उड़ान भर रही हैं.

Dewas News: देवास के वृद्धाश्रम में रहने वाली दो बुजुर्ग महिलाएं हौंसले की उड़ान भर रही हैं. इनकी उम्र है 80 और 78 साल. इनमें से एक घुड़सवारी और दूसरी स्कूटी चलाना सीख रही हैं. दोनों ने वृद्धाश्रम के संचालक से अपनी ख्वाहिश जाहिर की थी जिसे उन्होंने फौरन पूरा कर दिया

अधिक पढ़ें ...

देवास. देवास में नारी शक्ति ने कमाल कर दिया. उम्र है 80 साल लेकिन जोश युवाओं जैसा. एक घुड़सवारी (Horse Riding) सीख रही हैं तो दूसरी स्कूटी (Scooty) पर सवार हैं. इन दोनों की प्रेरणा हैं 95 साल की ड्राइवर दादी रेशम बाई तंवर जो फर्राटे से कार चलाती हैं.

देवास की नानी-दादी अब युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बन गयी हैं. इन्हीं में से एक देवकी बाई की उम्र 80 साल है और शकुंतला अभी 78 की हैं. दोनों वृद्धाश्रम में रहती हैं. उम्र के इस पड़ाव में वो अपनी जिंदगी का पूरा लुत्फ ले रही हैं. दोनों अपने शौक पूरे कर रही हैं. देवकी बाई घुड़सवारी सीख रही हैं और शकुंतला ने स्कूटी संभाल ली है.

ड्राइवर दादी हैं प्रेरणा
सीखने की कोई उम्र नहीं होती और इन दादियों की प्रेरणा तो 95 साल की ड्राइवर दादी रेशम बाई तंवर हैं. जो फर्राटे से मारुति कार चलाती हैं. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पिछले दिनों ट्विटर पर रेशम बाई का वीडियो शेयर कर उनसे प्रेरणा लेने की बात कही थी. इन दोनों ने ड्राइवर दादी को कार चलाते देखा तो वृद्धा आश्रम प्रबंधन से अपनी इच्छा जता दी. प्रबंधन ने भी फौरन इनके लिए घोड़े और स्कूटी का इंतजाम कर दिया. उसके बाद तो जैसे इनकी खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा.

ये भी पढ़ें- देवास की दादी 95 साल की उम्र में दौड़ा रहीं फर्राटे से कार, CM शिवराज भी हुए फैन

घोड़े पर सरपट सवारी
देवकी बाई के पिता घोड़ों का काम करते थे. वो बताती हैं कि जब मैं छोटी थी तो बहुत घोड़े दौड़ाती थी. मुझे घुड़सवारी करने की फिर से इच्छा हुई. इसलिए उन्होंने संचालक दिनेश चौधरी से अपनी इच्छा जताई कि कहीं से घोड़े का इंतजाम करवाओ. दिनेश चौधरी ने घुड़सवार को बुलवाया और देवकी दादी ने रैनबसेरा की सड़क पर खूब घोड़ा दौड़ाया. अब देवकी बाई कहती हैं मुझे खुशी हो रही है और डर भी नहीं लग रहा.

जीने की आशा
वृद्धाश्रम में रहने वाली ऐसी ही दूसरी बहादुर दादी हैं शकुंतला गोस्वामी. ड्राइवर दादी को जब कार चलाते देखा तो उन्होंने स्कूटर सीखने की इच्छा जताई. दिनेश ने इनकी इच्छा भी पूरी की. वो खुद पीछे बैठकर दादी को एक्टिवा चलाना सिखा रहे हैं. दिनेश चौधरी भी इनके जज्बे और हौसले की तारीफ करते हैं. यहां मौजूद वृद्ध भी तालियां बजाकर उनका स्वागत करते हैं.

जीवन का एकमात्र सहारा
इस रेन बसेरे में जो भी वृद्ध हैं उन्हें या तो उनके बच्चों ने छोड़ दिया है या फिर ऐसे बुजुर्ग हैं जिनका इस दुनिया में कोई नहीं है. इनका एक मात्र सहारा यह रैनबसेरा है जहां वह अपने आनन्द के साथ जीवन जीते हैं.

Tags: Dewas News, Madhya pradesh latest news, OMG Video

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर