कोरोना ने उजाड़ा परिवारः सास, जेठ और पति की मौत सहन नहीं कर सकी महिला, फांसी लगाकर की खुदकुशी

हंसता-खेलता परिवार जब उजड़ा तो महिला ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकी.

हंसता-खेलता परिवार जब उजड़ा तो महिला ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकी.

Suicide in Dewas: मध्य प्रदेश के देवास जिले में कोरोना ने एक परिवार उजाड़ दिया. यहां पहले सास की मौत हुई, फिर जेठ और पति की. ये सदमा छोटी बहू बर्दाश्त नहीं कर सकी और उसने खुदकुशी कर ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 10:16 AM IST
  • Share this:
देवास. मध्य प्रदेश के देवास से एक भरा-पूरा परिवार कोरोना के चलते महज एक हफ्ते में खत्म हो गया. सास, जेठ और पति की मौत के बाद छोटी बहू ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. झकझोर देने वाली ये घटना देवास अग्रवाल समाज के अध्यक्ष बालकिसन गर्ग के घर हुई है. सबसे पहले उनकी पत्नी चंद्रकला (75) को कोरोना संक्रमण हुआ और 14 अप्रैल को उनकी मौत हो गई. इसके ठीक दो दिन बाद उनके बेटे संजय (51) और स्वप्नेश (48) भी चल बसे. इस घटना को उनकी छोटी बहू रेखा गर्ग (45) सहन नहीं कर सकी. उन्होंने बुधवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस तरह कोरोना ने महज एक हफ्ते में पूरा परिवार उजाड़ दिया. परिवार में अब बालकिसन गर्ग के अलावा उनकी बड़ी बहू और पोते-पोतियां रह गए हैं.

सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को जिला चिकित्सालय भेजा. यहां पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया. मामले को लेकर नगर पुलिस अधीक्षक (CSP) विवेक सिंह चौहान ने बताया कि पुलिस ने मामला कायम कर लिया है. मामले को लेकर जांच की जा रही है.

लगातार बढ़ रहे मौत के आंकड़े

भोपाल में कोरोना से मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. हालाँकि सरकार इन आंकड़ों को ना के बराबर बता रही है, लेकिन अगर शहर के मुख्य श्मशान घाट और कब्रिस्तान के आंकड़ों पर यकीन करें तो तस्वीर अलग ही इसीलिए सवाल उठ रहे हैं कि है कि क्या सरकार मौत के आंकड़ों को छुपाने का काम कर रही है या सरकार झूठ बोल रही है. जबकि शहर के मुख्य श्मशान घाट के आंकड़े.में 21 अप्रैल को 138 शवों का कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार हुआ. भदभदा विश्राम घाट में 92 और सुभाष विश्राम घाट में 33 शवों का अंतिम संस्कार हुआ. झदा कब्रिस्तान में 13 शवों को दफनाया गया. लेकिन सरकारी आंकड़ों में कोरोना से 5 की मौत बताई गई है. बीस अप्रैल को 148 शवों का कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार हुआ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज