• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • देवास की दादी 95 साल की उम्र में दौड़ा रहीं फर्राटे से कार, CM शिवराज भी हुए फैन

देवास की दादी 95 साल की उम्र में दौड़ा रहीं फर्राटे से कार, CM शिवराज भी हुए फैन

95 साल की रेशमबाई ने 85 साल की उम्र में ट्रैक्टर चलाना सीखा था.

95 साल की रेशमबाई ने 85 साल की उम्र में ट्रैक्टर चलाना सीखा था.

Dewas News : देवास की दादी रेशम बाई तंवर फर्राटे से कार चलाती हैं. चर्चा में इसलिए हैं क्योंकि वो 95 साल की हैं. रेशमबाई को उनके बेटे सुरेश सिंह ने मारुति 800 कार चलाना (Car Driving) सिखाया है. कार सीखने में उन्हें 3 महीने लगे. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर उनके हौसले को सलाम किया.

  • Share this:

देवास. देवास (Dewas) की दादी रेशम बाई तंवर की धूम सोशल मीडिया पर मची हुई है. दादी फर्राटे से कार (Car) चलाती हैं. चर्चा में इसलिए हैं क्योंकि वो 95 साल की हैं. इसी उम्र में उन्होंने गाड़ी चलाना सीखा है और अब देवास की किसी भी खुली सड़क पर अपना शौक पूरा कर रही हैं. देखने वाला एक तो अपनी आंखों और कान पर यकीन नहीं कर पाता. रेशम बाई का वीडियो वायरल हो गया और सीएम शिवराज तक पहुंच गया. सीएम ने भी ट्वीट कर उनके हौसले को सलाम किया. परिवारवालों ने अब उनके लाइसेंस के लिए अप्लाय किया है. 10 साल पहले रेशम बाई ट्रैक्टर चलाना भी सीख चुकी हैं और एंड्राइड फोन का इस्तेमाल करने में भी माहिर हैं.

उम्र के इस पड़ाव पर जब लोग अपनी अंतिम सांसें गिनने लगते हैं देवास की रेशम बाई नई सांसें गिन रही हैं. उन्होंने इस उम्र में आकर अपना शौक पूरा किया. 95 वर्ष की उम्र में उन्होंने कार चलाना सीखा और अब खुली सड़क पर गाड़ी लेकर निकल पड़ती हैं.

बेटे ने पूरा किया शौक

रेशम बाई देवास से करीब 8 किलोमीटर दूर बिलावली की रहने वाली हैं. उन्हें कार चलाने का शौक चढ़ा तो अपनी इच्छा बेटे को बताई. बेटे ने भी फौरन अपनी मां की इच्छा पूरी की. उत्साह इतना था कि दादी ने कार चलाना सीख लिया और फर्राटे से कार चलाने में माहिर हो गईं. हालांकि उन पर उम्र बस इतनी ही हावी हो पाई कि वो एक बार में 20 मिलोमीटर से अधिक कार नहीं चला पाती हैं. और संकरी गलियों के बजाए मेन रोड या फोरलेन पर ही चला पाती हैं.

ये भी पढ़ें- अजय सिंह के घर पहुंचे नरोत्तम मिश्रा, दी जन्मदिन की शुभकामनाएं, 2 दिन में दो मुलाकातें

10 साल पहले ट्रैक्टर चलाना सीखा

इससे पहले करीब 10 वर्ष पूर्व रेशम बाई ट्रैक्टर चलाना सीख चुकी हैं. अंतिम बार उन्होंने दो दिन पहले बिलावली से देवास तक कार चलाई थी. उसी दौरान कुछ लोगों ने उनके वीडियो बना लिए जो अब वायरल हो गया है. रेशम बाई समय के साथ कदमताल कर रही हैं. वो एंड्राइड फोन चलाने में भी माहिर हैं.

CM शिवराज ने की तारीफ

दादी का जैसे ही वीडियो वायरल हुआ तो सीएम शिवराजसिंह चौहान तक पहुंच गया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा दादी मां ने हम सभी को प्रेरणा दी है कि अपनी अभिरुचि पूरी करने में उम्र का कोई बंधन नहीं होता है. उम्र चाहे कितनी भी हो, जीवन जीने का जज्बा होना चाहिए.

लाइसेंस के लिए अप्लाई

रेशम बाई को उनके बेटे सुरेश सिंह ने मारुति 800 कार चलाना सिखाया है. कार सीखने में उन्हें 3 महीने लगे. फिलहाल परिवार के लोग उन्हें अकेले कार नहीं चलाने देते. परिवार ने उनके लाइसेंस के लिए  परिवहन विभाग में आवेदन किया है. लेकिन उनकी उम्र अधिक होने के कारण अभी तक वहां से कोई रिप्लाय नहीं आया है. रेशम बाई के 3 बेटे और दो बेटियां हैं. सभी विवाहित हैं. वो नाती-पोते वाली हैं. परिवार के सभी लोग सामूहिक रूप से एक ही घर में रहते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज