Assembly Banner 2021

देवास: शिक्षा विभाग का समन्वयक जीवन सिंह रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, लोकायुक्त की टीम ने की कार्रवाई

देवास में शिक्षा विभाग का समन्वयक रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हो गया है.
 (सांकेतिक फोटो)

देवास में शिक्षा विभाग का समन्वयक रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हो गया है. (सांकेतिक फोटो)

लोकायुक्त पुलिस (Lokayukta Police) ने देवास में एक वरिष्ठ शिक्षक को रिश्वत (Bribe) लेते हुये गिरफ्तार किया है. शिक्षक ने बच्चों के मध्याह्न भोजन वितरण का ठेका देने के लिए रिश्वत मांगी थी.

  • Share this:
देवास. लोकायुक्त पुलिस (Lokayukta Police) उज्जैन ने देवास में एक वरिष्ठ शिक्षक को रिश्वत (Bribe) लेते हुये गिरफ्तार किया है. शिक्षक ने बच्चों के मध्याह्न भोजन वितरण का ठेका देने के लिए रिश्वत मांगी थी. माध्यमिक शाला में महिला स्वसहायता समूह करता है मध्याह्न भोजन का वितरण करता है. यहां मध्याह्न भोजन के ठेके को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षक (Teacher) रिश्वत ले रहा था. आरोपी वरिष्ठ शिक्षक होकर भी विकास खंड स्त्रोत समन्वयक शिक्षा विभाग के पद पर पर कार्यरत है.

लोकायुक्त पुलिस उज्जैन ने आज देवास में नेवरी फाटे पर शिक्षा विभाग के समन्वयक पद पर कार्यरत वरिष्ठ शिक्षक जीवन सिंह को रंगे हाथों रिश्वत लेते पकड़ा है. आरोपी ने मध्यान भोजन के ठेके को आगे बढ़ाने के लिए 5000 की रिश्वत मांगी थी. पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त शैलेंद्र सिंह चौहान को आवेदक शिवनारायण मालवीय निवासी नराना ने शिकायत दी थी कि उसकी पत्नी का उमंग स्व सहायता समूह शासकीय माध्यमिक विद्यालय नराना में मध्याह्न भोजन बनाने का ठेका है, जिसे आगे बढ़ाने के लिये आरोपी जीवन सिंह विकास खंड स्रोत समन्वयक सोनकच्छ द्वारा 5000 की रिश्वत की मांग की है. फरियादी से जीवन सिंह ने 1000 हजार 22 फरवरी को लिया था.





ट्विटर पर हिन्दी भाषा को मान्यता क्यों नहीं! हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा-आपने क्या किया

वहीं बाकी रुपये 4000 की रिश्वत लेने के लिए आज बुलाया था. जहां पर उज्जैन लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने उनकी टीम के साथ यहां पहुंचकर कार्रवाई पूरी की. वहीं लोकायुक्त पुलिस ने शिक्षक पर धारा 7 भ्रष्टाचार अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्ध कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि आरोपी का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें आरोपी कह रहा है कि मैंने कोई रिश्वत नहीं ली. गाड़ी पर पन्नी में पैसे रख के उठाए गए हैं और मुझ पर झूठा प्रकरण डाला जा रहा है. पुलिस ने भी देखा है पुलिस भी यहां मौजूद है.
उज्जैन लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने बताया हमें शिवनारायण मालवीय की शिकायत मिली थी कि उनकी पत्नी द्वारा स्व सहायता समूह शासकीय माध्यमिक विद्यालय में उमंग मध्यान भोजन का ठेके चलाने का कार्य नारायण विद्यालय में किया जाता है. वहीं ठेका आगे बढ़ाने की बात को लेकर वरिष्ठ शिक्षक जीवन सिंह ने रुपयों की मांग की थी. मेरे द्वारा ट्रेप प्लान कर फोन नंबर से रिकॉर्डिंग की गई, जिसके बाद 24 तारीख को आरोपी द्वारा हमें पहले घुमाया गया और फिर हमने आरोपी को पैसे की थैली के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. अब पुलिस आरोपी को न्यायालय में पेश कर आगे की कार्रवाई करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज