होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /देवास जिले में दर्ज की गई पहली ई-एफआईआर, शिकायती ने दी वाहन चोरी की सूचना

देवास जिले में दर्ज की गई पहली ई-एफआईआर, शिकायती ने दी वाहन चोरी की सूचना

ई-एफआईआर के जरिए मोटरसाइकिल चोरी का मामला दर्ज कराया गया.

ई-एफआईआर के जरिए मोटरसाइकिल चोरी का मामला दर्ज कराया गया.

ई-एफआईआर दर्ज कराने के लिए आपको पोर्टल Citizen.mppolice.gov.in या mppolice.gov.in पर जाना होगा, या फिर MPeCOPAPP के जरि ...अधिक पढ़ें

देवास. जिले में पहली ई-एफआईआर आज सोमवार को कोतवाली थाने में दर्ज की गई. यह ई-एफआईआर जवाहर नगर में चोरी गई मोटरसाइकिल के संदर्भ में दर्ज कराई गई है. इसे दर्ज कराया है महेंद्र साहू ने. अगर राज्यस्तर पर देखें तो यह प्रदेश की दूसरी ई-एफआईआर है.

प्रदेश की दूसरी ई-एफआईआर

आपको बता दें के मध्य प्रदेश में ई-एफआईआर की सुविधा इसी 12 अगस्त को पुलिस प्रशासन ने शुरू की थी. सिटीजन पोर्टल या एमपीईकॉपऐप के जरिए ई-एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है. ई-एफआईआर दर्ज कराने के लिए कुछ नियम और शर्तें हैं.

वाहन चोरी के मामले में दर्ज कराई ई-एफआईआर

थाना कोतवाली देवास से जानकारी मिली कि जिले की पहली ई-एफआईआर दर्ज हुई है. थाने से यह भी पता चला कि ई-एफआईआर योजना शुरू किए जाने के बाद यह प्रदेश की दूसरी ई-एफआईआर है. इसे देवास के नन्हेभाई साहू के बेटे महेन्द्र साहू ने दर्ज कराया है. उन्होंने इसके लिए मध्‍य प्रदेश सिटीजन पोर्टल का सहारा लिया. यह ई-एफआईआर देवास के जवाहर नगर से चोरी गए वाहन के सिलसिले में दर्ज कराई गई है. ई-एफआईआर के आधार पर देवास पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है.

ई-एफआईआर दर्ज कराने की प्रक्रिया

ई-एफआईआर दर्ज कराने के लिए आपको पोर्टल Citizen.mppolice.gov.in या mppolice.gov.in पर जाना होगा, या फिर MPeCOPAPP के जरिए आप ई-एफआईआर दर्ज करा सकते हैं. फिलहाल इन मामलों में ही ई-एफआईआर दर्ज करवाई जा सकती है – वाहन चोरी (15 लाख रुपये से कम कीमत की हो), सामान्य चोरी (1 लाख रुपये से कम कीमत की हो), आरोपी अज्ञात हो या घटना में चोट/बल का प्रयोग न हुआ हो.

भाग-दौड़ भी नहीं, समय की बचत भी

टीआई उमराव सिंह ने बताया कि देवास के महेंद्र साहू ने ई-एफआईआर दर्ज करवाई है. इसके जरिए उन्होंने वाहन चोरी की सूचना दी है. मध्य प्रदेश सिटीजन पोर्टल के अनुसार कुछ शर्तों के साथ ई-एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है. इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आमजन को कहीं भाग-दौड़ नहीं करनी पड़ती है और समय की बचत भी होती है.

Tags: Dewas News, FIR, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें