यहां महान लोगों की तस्‍वीरें और रंगोली बनाकर मनाई जाती है होली
Dewas News in Hindi

यहां महान लोगों की तस्‍वीरें और रंगोली बनाकर मनाई जाती है होली
छत्तीसगढ़ के लिए ममता चंद्राकर किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं. पद्मश्री सम्मान के साथ अब वह देश-दुनिया में भी जानी और पहचानी जाएंगी. लोक गीतों को अपनी कर्णप्रिय आवाज से सजाकर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करने वाली ममता चंद्राकर दुर्ग जिले की रहने वाली हैं. दु्र्ग के मतवारी गांव में जन्मीं और पली-बढ़ी ममता बचपन से ही संगीत में रची-बसी रही हैं.

कला साधकों की नगरी देवास में होली मनाने का अनुठा व अनुपम तरीका है। यहां पर कला साधक होली के दिन भी अपने शहर की सांस्‍कृतिक परंपराओं को जीवंत रखने का प्रयास करते हैं।

  • Last Updated: March 6, 2015, 7:55 AM IST
  • Share this:
कला साधकों की नगरी देवास में होली मनाने का अनुठा व अनुपम तरीका है। यहां पर कला साधक होली के दिन भी अपने शहर की सांस्‍कृतिक परंपराओं को जीवंत रखने का प्रयास करते हैं।

वे रंगोली बनाकर देश के प्रसिद्ध लोगों की तस्‍वीर बनाकर शहर में आयोजित होने वाले होली उत्‍सवों में रखते हैं। इन तस्‍वीरों को शहर के कला प्रेमी देखने के लिए जुटते हैं। साथ ही उनकी बनाई रंगोलियों को देखने वालों की भीड़ जुटती है।

यह परंपरा 40 साल से जारी है, तब से होली के उत्सव पर शहर का रचनात्मक और कलात्मक पहलुओं से साक्षात्कार कराने में अहम भुमिका निभा रही है।



इस बार कलाकार मनोज पंवार ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा, बेटी बचाओ के साथ लता मंगेशकर, शिव पार्वती और मौलिक आदिवासी सुंदरता का जो सजीव चित्रण रांगोली में किया है। वह अद्भूत और अनुपम है, जिसे देखने के लिए होली पर शहरवासी सड़कों पर उमड़े।
आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज