MP में कैबिनेट विस्तार पर कांग्रेस नेता का तंज- सिंधिया नटखट हैं, अपना दिल मजबूत कर लें CM शिवराज

पूर्व मंत्री वर्मा ने भाजपा पर कई आरोप लगाए हैं.

पूर्व मंत्री वर्मा ने भाजपा पर कई आरोप लगाए हैं.

कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने अपने पुराने साथी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को नटखट कहा है. उन्होंने कहा कि सिंधिया का दिल नटखट है और वे शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) पर जबर्दस्त दबाव डालेंगे.

  • Last Updated: January 4, 2021, 10:10 AM IST
  • Share this:
वरुण राठौड़.

देवास. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) की सरकार के प्रस्तावित मंत्रिमंडल विस्तार पर कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को निशाने पर लेते हुए तंज कसा है. कांग्रेस नेता और प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया नटखट हैं और भाजपा को इनका यह दबाव लंबे समय तक झेलना पड़ेगा. वर्मा ने कहा कि शिवराज अपना दिल मजबूत कर लें. उन्हें ये दबाव अभी और भी झेलना है. वर्मा यहां एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया के सवाल का जवाब दे रहे थे.

पूर्व मंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का ग्रास रूट कार्यकर्ता, कई बार विधायक रह चुके नेता अपने लिए कुछ न कुछ राह देख रहे हैं. इन सभी के साथ न्याय होना चाहिए. भाजपा असंवैधानिक काम कर ही है. इतिहास में अभी तक इतने दिनों तक कोई प्रोटेम स्पीकर के पद पर नहीं रहा. भाजपा पूरा मंत्रिमंडल का विस्तार करके तो देखे फिर देखिए पार्टी में कितनी बगावत है.

तीखे बयानों के लिए जाने-जाते हैं वर्मा
गौरतलब है कि सज्जन सिंह वर्मा अपने तीखे बयानों के लिए भी जाने जाते हैं. पिछले साल भी उन्होंने कैलाश विजयवर्गीय के इंदौर शहर में आग लगाने के बयान पर कहा था- 'इंदौर शहर नपुंसकों का शहर नहीं है, बल्कि बाहुबलियों और बुद्धिमानों का शहर है..., और कोई नपुंसक इंदौर शहर में आग नहीं लगा सकता है.' आपको बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय ने पिछले साल एक कार्यक्रम में कहा था कि यदि इंदौर में संघ के पदाधिकारी नहीं होते तो वो शहर में आग लगा देते. हालांकि विजयवर्गीय की नाराजगी इंदौर में भूमाफियाओं के खिलाफ हो रही कार्रवाई को लेकर थी, लेकिन इस मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी, विजयवर्गीय और भाजपा पर हमलावर हो गई थी.

जीतू पटवारी ने किया था बचाव

हालांकि इस मामले में पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बचाव किया था. उन्होंने कहा था कि सज्जन सिंह वर्मा के कहने का मतलब इंदौर शहर के स्वभाव में घृणा नहीं होना है और कैलाश विजयवर्गीय को अपने बयान पर माफी मांगनी चाहिए. मंत्री पटवारी ने कहा कि विजयवर्गीय के बयान पर पार्टी को फैसला लेना चाहिए और बताना चाहिए कि बीजेपी आग लगाने वाली पार्टी में क्या शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज