विधायक के पुत्र और ग्रामीणों में विवाद, गोली चली, सात घायल
Dewas News in Hindi

विधायक के पुत्र और ग्रामीणों में विवाद, गोली चली, सात घायल
देवास के राघौगढ़ में बुधवार जमीन का कब्जा लेने को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री व बीजेपी विधायक के पुत्र और ग्रामीणों में जमकर विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि न केवल मारपीट बल्की गोलियां भी चली और घटना में दोनों पक्ष के 7 लोग भी घायल हो गए। विधायक पुत्र समेत 20 अन्य पर धारा 307 व बलवे का मामला दर्ज हुआ। घटना में एफआईआर होने के बाद विधायक समर्थक बैंक नोट प्रेस थाने पंहुचे। इसके बाद देर रात 2 बजे विधायक तुकोजीराव पंवार भी थाने पहुंचे गए। यहां उन्होंने समर्थकों के साथ मिलकर पुलिस पर दूसरे पक्ष के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने का काफी दबाव बनाया, जिसके बाद लोधी परिवार के लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई।

देवास के राघौगढ़ में बुधवार जमीन का कब्जा लेने को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री व बीजेपी विधायक के पुत्र और ग्रामीणों में जमकर विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि न केवल मारपीट बल्की गोलियां भी चली और घटना में दोनों पक्ष के 7 लोग भी घायल हो गए। विधायक पुत्र समेत 20 अन्य पर धारा 307 व बलवे का मामला दर्ज हुआ। घटना में एफआईआर होने के बाद विधायक समर्थक बैंक नोट प्रेस थाने पंहुचे। इसके बाद देर रात 2 बजे विधायक तुकोजीराव पंवार भी थाने पहुंचे गए। यहां उन्होंने समर्थकों के साथ मिलकर पुलिस पर दूसरे पक्ष के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने का काफी दबाव बनाया, जिसके बाद लोधी परिवार के लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई।

  • Share this:
देवास के राघौगढ़ में बुधवार जमीन का कब्जा लेने को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री व बीजेपी विधायक के पुत्र और ग्रामीणों में जमकर विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि न केवल मारपीट बल्की गोलियां भी चली और घटना में दोनों पक्ष के 7 लोग भी घायल हो गए। विधायक पुत्र समेत 20 अन्य पर धारा 307 व बलवे का मामला दर्ज हुआ। घटना में एफआईआर होने के बाद विधायक समर्थक बैंक नोट प्रेस थाने पंहुचे। इसके बाद देर रात 2 बजे विधायक तुकोजीराव पंवार भी थाने पहुंचे गए। यहां उन्होंने समर्थकों के साथ मिलकर पुलिस पर दूसरे पक्ष के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने का काफी दबाव बनाया, जिसके बाद लोधी परिवार के लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई।

दरअसल, डबवचौकी के निकट राधौगढ गांव में प्रदेश के पूर्व मंत्री व बीजेपी विधायक तुकोजीराव पंवार के पुत्र विक्रम राव पंवार अपने साथियों के साथ दो बोलेरो गाड़ी में सवार होकर ट्रस्ट की जमीन पर वर्षों से पड़े कब्जे को हटाने पंहुचे थे, लेकिन विधायक तुकोजीराव पवार के बेटे विक्रम राव पवार और उनके साथियों का खेत में काम कर रहे लोधी परिवार के लोगों और अन्य से जमकर विवाद हो गया। इसमें धारधार हथियार, गोली भी चली और घटना में दोनों पक्षों के लोग घायल हो गए। घटना में घायल लोधी परिवार के चार लोगों को इंदौर के एमवाय और खुडैल के इंडेक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। इधर पवार पक्ष के भी 3 लोग घायल हो गए।

आरोप है कि विक्रम राव पंवार के पक्ष के लोगों ने धारदार हथियारों का प्रयोग किया और गोली भी चलाई। इससे 30 वर्षीय प्रताप पिता रामचंद्र लोधी, 34 वर्षीय भाई रमेश और रामचंद्र लोधी का 22 वर्षीय भतीजा अज्जू उर्फ अजय पिता बाबूलाल लोधी घायल हो गए। प्रताप को गंभीर हालत में इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि रमेश और अज्जू उर्फ अजय इंडेक्स अस्पताल में भर्ती है।



इस घटना के दौरान लोगों ने विक्रम पंवार की दो बोलेरो गाड़ी में जमकर तोड़फोड भी की। घटना की जानकारी मिलते ही बरोठा पुलिस सहित आसपास के थाना क्षेत्रों का पुलिस बल और एसडीएम मौके पर पंहुचे। घटना में घायल लोगों की शिकायत पर बरोठा थाने पर पूर्व मंत्री तुकोजीराव पंवार के पुत्र विक्रम राव पवार व उसके 15 से 20 साथियों पर धारा 307, 147, 148, 149 आईपीसी व 25, 27 आर्म्‍स एक्ट में प्रकरण दर्ज कर लिया गया। लेकिन बात यहीं नहीं रुकी, जब तुकोजीराव पंवार समर्थकों को इस बात की जानकारी लगी तो समर्थक रात करीब 11:30 बजे देवास शहर के बैंक नोट प्रेस थाने पर आकर जमा हो गए और घटना में घायल हुए 3 लोगों कि शिकायत पर लोधी परिवार व अन्य लोगों पर मामला दर्ज करने पर अड़ गए।
जब बात नहीं बनी तो खुद विधायक तुकोजीराव पंवार देर रात करीब 2 बजे थाने पंहुचे और पुलिस अधिकारियों से चर्चा की लेकिन पुरे मामले में गहमागहमी बनी रही, आखिरकार पुलिस ने विधायक की बात को मानकर लोधी परिवार के लोगों पर भी क्रास में धारा 307 में मामला दर्ज कर ही लिया और तब कहीं जाकर अलसुबह करीब 4 बजे विधायक पवार थाने से बाहर आए।

विधायक के हस्तक्षेप के बाद बैंक नोट थाना पुलिस ने शून्य पर तीन अलग-अलग एफआईआर दर्ज की। कैलाश बागवान की शिकायत पर प्रताप लोधी, अजय लोधी समेत 16 अन्य आरोपियों पर 307, 147, 148, 149, 294, 323, 294, 507 आईपीसी के तहत प्रकरण दर्ज किया। 2 बोलेरो वाहन में तोड़फोड़ करने वाले अज्ञात आरोपियों के खिलाफ भी दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई है। इस दौरान रातभर थाने पर भारी पुलिस बल तैनात रहा। गहमागहमी में मीडीया भी रातभर कवरेज के लिए डटा रहा।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज