'शिवराज ने झूठ बोलने का जनरल स्टोर खोल रखा है', CM के लिए क्या-क्या बोल गए कांग्रेस नेता

कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सीएम शिवराज पर विवादित टिप्पणी कर दी.

कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सीएम शिवराज पर विवादित टिप्पणी कर दी.

Madhya Pradesh Congress के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा. उन्होंने कई बार विवादित बयान दिए हैं. इस बार उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को घेरा है. कांग्रेस नेता ने शिवराज को झूठा बताया है.

  • Last Updated: April 10, 2021, 9:47 AM IST
  • Share this:
देवास. अक्सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने एक बार फिर विवादित बयान दे दिया है. उन्होंने इस बार प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा- शिवराज ने झूठ बोलने का जनरल स्टोर खोल रखा है.

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दमोह में कहा था कि कमलनाथ ने भावान्तर का पैसा खा लिया. इसी बात को लेकर सज्जन सिंह वर्मा ने उन्हें घेर लिया. उन्होंने कहा- ‘मैं देवास जिले में बैठा हूं. मेरे देवास जिले के किसान भाइयों का भावान्तर का प्याज का 33 करोड़ रुपया नहीं दिया तुमने. किसानों को मत बरगलाओ. इनकी आह तुम्हें छोड़ेगी नहीं.’

इस बात पर भी सीएम को घेर लिया पूर्व मंत्री ने

गौरतलब है कि दमोह की ही एक और सभा में सीएम शिवराज सिंह ने अपनी बात उड़द से शुरू की थी. उन्होंने कहा था उड़द की खरीदी कमलनाथ सरकार ने की. पैसा उन्होंने खाया और गुस्सा मामा पर निकाला जा रहा है. मैं पूरे प्रदेश के किसानों का उड़द का बकाया पैसा डालूंगा. गौरतलब है कि 2018-19 में जब उड़द खरीदी गई थी तब सीएम कमलनाथ थे. उनके शासनकाल में उड़द की नीलामी हुई, लेकिन किसानों के खातों में राशि नहीं डाली गई. इस पर कांग्रेस के पूर्व मंत्री वर्मा ने कहा कि दमोह के किसानों तुम्हारी कसौटी अभी बची है. क्योंकि वहां चुनाव हैं. किसान शिवराज को छोड़ेंगे नहीं.
सीएम की इस बात पर भी बेतुका बोले थे सज्जन

20 जनवरी को सज्जन सिंह वर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की एक और बात पर कटाक्ष किया था. दरअसल सीएम ने एक सभा में कहा था कि लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 साल करने की बात पर समाज में बहस होनी चाहिए. इस पर सज्जन सिंह वर्मा ने बेतुका बयान दे दिया था. सज्जन सिंह ने कहा था कि डॉक्टरों के अनुसार जब लड़कियां 15 साल में प्रजनन लायक हो जाती हैं तो शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है. जब पहले से ही शादी की उम्र 18 साल तय है तो 18 साल ही क्यों न रहने दिया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज