सिंधिया ने तो कुत्ते की समाधि तक को नहीं छोड़ा, अपने ही पुराने साथी पर आखिर क्या कह गए कांग्रेस के पूर्व मंत्री

मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने सिंधिया पर विवादित बयान दिया है. (File)

मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने सिंधिया पर विवादित बयान दिया है. (File)

कांग्रेस के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा (Jyotiraditya Scindia) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बेतुका बयान दे दिया है. उन्होंने कहा है कि सिंधिया सबसे बड़े लैंड माफिया हैं. सिंधिया कुत्ते की समाधि तक अपने नाम करवाने से नहीं चूके.

  • Last Updated: March 21, 2021, 10:04 AM IST
  • Share this:
देवास. बयानों से अक्सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने फिर नया विवाद खड़ा कर दिया है. अपने ही पूर्व साथी और अब भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) पर उन्होंने बड़ा बयान दिया है.

देवास पहुंचे पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि अगर सबसे बड़ा भू-माफिया कोई है तो वो ज्योतिरादित्य सिंधिया है. उसने कुत्ते की समाधि तक को नहीं छोड़ा शिवपुरी में. कुत्ते की समाधि भी अपने नाम करवा ली. शिवपुरी में हजारों एकड़ भूमि जो ट्रस्ट के नाम पर थी वो भी अपने नाम करवा ली. इतनी जमीन लेकर कहां जाएंगे.

कमलनाथ विधायक खरीद सकते हैं, पर ऐसा नहीं किया

कांग्रेस के लोकतंत्र सम्मान दिवस के मौके पर वर्मा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता लोकतंत्र के हत्यारे हैं. बीजेपी के 40 विधायक हमारे संपर्क में हैं, लेकिन वो बिना माल दिए कहां आने वाले हैं. उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री कमलनाथ के पास इतना पैसा है कि वह 40 विधायक खरीद सकते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.
सोशल डिस्टेंसिंग भूले कांग्रेसी

लोकतंत्र सम्मान दिवस के मौके पर कांग्रेस ने शनिवार को तिरंगा यात्रा निकाली. इस दौरान कांग्रेसी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भूल गए. यात्रा में शामिल आधे कार्यकर्ताओं ने मास्क पहने थे, जबकि आधों ने नहीं पहने थे. यात्रा भोपाल चौराहे से मुख्य मार्ग एमजी रोड होते हुए उज्जैन चौराहे पर बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा तक निकाली गई.

कमलनाथ ने वीडियो संदेश के जरिेए कही मन की बात



कांग्रेस के सम्मान दिवस के मौके पर सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वीडियो संदेश जारी किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो अधूरे वचनों को पूरा किया जाएगा. ये सरकार सौदेबाजी की सरकार है, ज्यादा नहीं चलेगी. इस संदेश के जरिए कमलनाथ ने साफ संकेत दे दिए कि 2023 के चुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी की तैयारियां जोरों पर हैं. दरअसल, पिछले साल 20 मार्च को ही कमलनाथ सरकार ने इस्तीफा दिया था.

15 महीने की सरकार बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ विधायकों के दल बदलने के कारण गिर गई थी. कल कमलनाथ के सरकार गवाने के 1 साल पूरा होने पर कांग्रेस पार्टी ने पूरे प्रदेश में लोकतंत्र सम्मान दिवस मनाया. इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस दफ्तर में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और सुरेश पचौरी सहित सैकड़ों नेता-कार्यकर्ता मौजूद थे. कांग्रेस के नेताओं ने इस मौके पर संविधान की प्रस्तावना को पढ़कर सुनाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज